रायबरेली, जेएनएन। सरेनी के विश्वनाथ खेड़ा मजरे इब्राहिमपुर गांव में सोमवार की रात एक विवाहिता की हालत बिगड़ गई। उसे गंभीर हालत में सीएचसी लाया गया। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतका के मायके वालों ने दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। जिसके बाद पर पति, सास-ससुर व देवर के खिलाफ मुकदमा भी पंजीकृत कर दिया गया है। 

विश्वनाथ खेड़ा गांव निवासी अजय का विवाह अप्रैल 2018 में ठकुराइनगंज मजरे रालपुर निवासी राम आसरे की बेटी नीतू उर्फ कविता (22) के साथ हुआ था। रविवार की रात लगभग आठ बजे अजय ने नीतू की बहन रीता को फोन किया। उसे बताया कि नीतू की तबीयत खराब हो गई है, हम सब उसको लेकर सरेनी अस्पताल जा रहे हैं। ये सूचना मिलते ही उसके घरवाले भी आननफानन सीएचसी पहुंचे मगर, वहां कोई नहीं मिला। जिसके बाद सभी लालगंज सीएचसी आए। यहां पता चला कि नीतू की मौत हो चुकी है। उसके पति, सास-ससुर और देवर मौके से फरार हो गए हैं। जिसके बाद राम आसरे ने लालगंज कोतवाली में तहरीर दी।

बताया कि पहले उसकी बेटी की गला दबाकर हत्या की गई। फिर उसे फांसी पर लटकाकर आत्महत्या का रूप देने की कोशिश की गई। शादी के बाद से ही दहेज में चार पहिया वाहन और पांच लाख रुपयों की मांग की जा रही थी। जिसे पूरा न करने पर आएदिन उसकी बेटी को प्रताडि़त किया जा रहा था। 

सरेनी थाना प्रभारी राकेश कुमार ङ्क्षसह ने बताया कि नीतू के पति अजय समेत ससुर राजबहादुर, देवर दीपू व सास के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। आरोपितों की तलाश की जा रही है। 

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस