सीतापुर, जेएनएन। उत्‍तर प्रदेश के सीतापुर में सोमवार की सुबह नवविवाहिता संदिग्ध हालात में आग की चपेट में आ गई। चीख-पुकार सुनकर परिवारजन ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक वह झुलस चुकी थी। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उधर, पीडि़ता ने दहेज व पति के जन्‍मदिन पर कपड़ों की मांग पूरी न कर पाने पर करोसिन डालकर जलाने का आरोप लगाया है। मायके पक्ष ने पति समेत चार लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस मामले की छानबीन में लगी है। डॉक्टरों पीयूष गोयल के मुताबिक, विवाहिता की हालत खतरे से बाहर है।

11 माह पहले हुई थी शादी

मामला थाना कमलापुर कस्बे का है। यहां के निवासी दुर्गेश के साथ 11 माह पहले खुशबू (26) पुत्री खैराबाद के अमीरनगर निवासी रामनाथ जायसवाल की शादी हुई थी। पीडि़ता का कहना है कि शादी के बाद से ही दहेज में डेढ़ लाख रुपये की मांग को लेकर परेशान किया जा रहा था। जिसमें मायके पक्ष ने असमर्थता जताई। सोमवार को पति दुर्गेश का जन्मदिन था। ससुरालजन पति के जन्मदिन पर पूरे परिवार के लिए नए कपड़ों  की मांग कर रहे थे। आर्थिक समस्याओं के कारण मायके पक्ष से परिवार का कोई सदस्य नहीं आ सका। दहेज और जन्मदिन पर कपड़े न आने को लेकर झगड़ा भी हुआ। उधर, पीडि़ता की मां सरला का कहना है कि जन्मदिन पर मुहमांगी डिमांड पूरी न होने पर पुत्री को जलाया गया। 

पति समेत छह पर मुकदमा दर्ज 

पीडि़ता के पिता रामनाथ जायसवाल ने का आरोप है कि विवाह के बाद से ससुरालजन दहेज में डेढ़ लाख रुपये की की मांग कर रहे थे। मांग पूरी न होने पर केरासिन डालकर बेटी को जला दिया गया। मामले में पति, देवर रमेश, दो ननद शालू और रजनी के खिलाफ तहरीर दी है। 

क्‍या कहना है पुलिस का ?

एसओ कमलापुर आरबी सुमन ने बताया कि विवाहिता के बयान दर्ज कर लिए गए हैं। पीडि़ता को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल तहरीर के आधार पति समेत चार लोगों पर केस दर्ज कर लिया गया है। जांचकर कार्रवाई की जाएगी।

 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस