हरदोई, संवाद सूत्र। जिला कारागार में बंद दहेज हत्या के आरोपित बंदी ने रविवार को ब्लेड से गला काटकर जान दे दी। वह शौचालय में पड़ा मिला। बंदी के जान देने से कारागार में खलबली मच गई। बंदीरक्षक उसे जिला अस्पताल लेकर गए। सीओ सिटी ने फारेंसिक टीम के साथ कारागार पहुंचकर पूरी जानकारी ली। जेलर ने बताया कि ड्यूटी पर तैनात बंदीरक्षक की गलती सामने आई है। पूरी जांच हो रही है और उसके बाद आगे की कार्रवाई होगी। 

सांडी क्षेत्र के काईमऊ निवासी सलमान पुत्र नौशाद पत्नी की दहेज हत्या के आरोप में 19 सितंबर 2020 से जिला कारागार में बंद था। रविवार को जिला कारागार में ही उसने ब्लेड से अपना गला काट लिया। शौचाालय की तरफ गए बंदियों ने उसे देखा तो बंदीरक्षकों को खबर दी गई। जेलर संजय सिंह समेत अन्य अधिकारी पहुंचे और कारागार से उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, लेकिन ब्लेड काफी गहरा लगा था और उसकी मौत हो चुकी थी। कारागार में बंदी के गला काटकर जान देने की खबर मिलते ही पुलिस अस्पताल पहुंची।

जेलर संजय सिंह ने बताया कि दोपहर को बंदियों की गणना के समय अन्य के साथ सलमान को भी बाहर निकाला गया था। उसे कहीं से ब्लेड मिल गया था और मौका पाकर वह शौचालय की तरफ चला गया। वहीं पर ब्लेड से अपना गला काट लिया। उन्होंने बताया कि बंदी के घरवालों को सूचना दे दी गई हैै। जो बंदीरक्षक ड्यूटी पर था, उसकी लापरवाही रही। बंदी के शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है।

Edited By: Vikas Mishra