लखनऊ [विकास मिश्र]। निकोलस पूरन (67) की महत्वपूर्ण पारी और शेल्डन काट्रेल (तीन विकेट) की धारदार गेंदबाजी की बदौलत वेस्टइंडीज ने यहां खेले गए दूसरे अहम मुकाबले में अफगानिस्तान को 47 रनों से शिकस्त देकर वनडे सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली। कैरेबियाई टीम के 247 रनों के जवाब में मेजबान टीम 45.5 ओवर में 200 रनों पर आउट हो गई।

होप और लुईस ने दी ठोस शुरुआत

इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में वेस्टइंडीज के कप्तान कीरोन पोलार्ड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। ओपनर शाई होप (43) और एविन लुईस (54) ने पहले विकेट के लिए शानदार 98 रनों की साझेदारी की। होप ने अपनी जुझारू पारी में 77 गेंदों का सामना किया और पांच चौके लगाए। जबकि लुईस ने 75 गेंदें खेलकर छह चौके व एक छक्का जड़ा। होप को राशिद खान ने अपना शिकार बनाया तो लुईस जावेद अहमदी की गुडलेंथ पर बोल्ड हो गए। इन दोनों के आउट होने के बाद कैरेबियाई पारी लडख़ड़ा गई। तीसरे नंबर पर खेलने उतरे हेटमायर (34) ही कुछ देर तक संघर्ष कर सके। पिछले मैच के हीरो रोस्टन चेस इस अहम मुकाबले में कुछ खास नहीं कर पाए और सिर्फ नौ रन बनाकर चलते बने।

पोलार्ड का फ्लॉप शो जारी

वेस्टइंडीज के कप्तान और विस्फोटक बल्लेबाज कीरोन पोलार्ड का फ्लॉप शो दूसरे वनडे में भी जारी रहा। पहले मैच में सिर्फ तीन रन बनाकर आउट होने वाले पोलार्ड जब बैटिंग करने उतरे तो एक छोर पर निकोलस पूरन जमे हुए थे और उस समय कैरेबियाई टीम का स्कोर 38 ओवर में चार विकेट पर 156 रन था। टीम प्रबंधन को इस मुकाबले में अपने कप्तान से बड़ी पारी की उम्मीद थी, लेकिन उन्होंने एक बार फिर निराश किया और महज तीन रन बनाकर शफरुद्दीन अशरफ की गेंद कट एंड बोल्ड हो गए।

पूरन ने कैरेबियाई टीम को संभाला

अभ्यास मैच और पहले वनडे में बल्ले से फ्लॉप रहे निकोलस पूरन का बल्ला दूसरे वनडे में खूब चला। पूरन ने आउट होने से पहले सिर्फ 50 गेंदों का सामना कर सात चौके व तीन छक्के की मदद से शानदार 67 रनों की पारी खेली। उन्होंने अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी और छोटी-छोटी साझेदारी कर टीम को सम्मानजक स्कोर तक पहुंचाया।

अफगानिस्तान की खराब शुरुआत

248 रनों के लक्ष्य के जवाब में खेलने उतरी अफगानिस्तान की शुरुआत बेहद खराब रही। उसने 27 ओवर में सिर्फ 109 रन के कुल स्कोर तक अपने पांच महत्वपूर्ण विकेट गंवा दिए। पारी की शुरुआत करने आए जावेद अहमदी तो खाता भी नहीं खोल सलके। ओपनर रहमत शाह (33) और विकेटकीपर बल्लेबाज इकराम अली खिल (19) भी क्रीज पर जमने के बावजूद बड़ी पारी नहीं खेल सके। रहमत दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन आउट हुए। वहीं इकराम को रोस्टन चेस ने अपनी फिरकी में फंसाया। पिछले मैच में 35 रन बनाने वाले ऑलराउंडर असगर अफगान को कप्तान राशिद ने इस मैच में प्रमोट करते हुए चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने भेजा। हालांकि यह बदलाव उन्हें रास नहीं आया और सिर्फ रन बनाकर चेस की गेंद पर लुईस के हाथों लपके गए।

नजीबुल्लाह और नबी ने किया संघर्ष

सिर्फ 109 रन के कुल स्कोर तक अफगानिस्तान की आधी टीम पवेलियन लौट चुकी थी। ऐसे क्रीज पर मौजूद नजीबुल्लाह जदरान (56) और मुहम्मद नबी (32) पर टीम को जीत दिलाने की जिम्मेदारी थी। इन दोनों खिलाडिय़ों ने इसके लिए काफी संघर्ष भी किया। जदरान ने 66 गेंदों पर सात चौके व एक छक्के की मदद से शानदार 56 रनों की पारी खेली। जबकि नबी ने अपनी पारी में 38 गेंदों का सामना किया और पांच चौके लगाए। जदरान को काट्रेल ने और नबी को वॉल्श ने पवेलियन की राह दिखाकर वेस्टइंडीज की जीत सुनिश्चित कर दी। वेस्टइंडीज के लिए शेल्डन काट्रेल, रोस्टन चेस और हेडन वॉल्श ने तीन-तीन विकेट लेकर जीत में अहम भूमिका निभाई। निकोलस पूरन को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया।

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप