लखनऊ, जेएनएन। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण की सेकेंड स्ट्रेन पर प्रभावी नियंत्रण के बाद भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोई बड़ा खतरा मोल लेने से बच रहे हैं। प्रदेश में वीकेंड लॉकडाउन जारी है। यानी शनिवार और रविवार को बंदी है। अब योगी आदित्यनाथ सरकार ने वीकेंड लॉकडाउन को लेकर बड़ा फैसला किया है। प्रदेश सरकार ने अब शनिवार व रविवार को कोविड प्रोटोकॉल के साथ धार्मिक स्थल को खोलने का फैसला किया है।

अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी ने जानकारी दी है कि कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के सुस्त cके बाद प्रदेश सरकार ने वीकेंड लॉकडाउन (शनिवार- रविवार) को धार्मिक स्थल खोलने का फैसला लिया हैं। अब शनिवार व रविवार को भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए लोग धार्मिक मान्यताओं की पूर्ति कर सकेंगे। सरकार ने सोमवार को इसका दिशा-निर्देश जारी कर दिया है। इस दौरान भी एक समय में धर्म स्थल के अंदर केवल पांच श्रद्धालु ही मौजूद रह सकेंगे।

प्रदेश में कोरोना के लगातार घटते मामलों और सभी जगह पर तेजी से सामान्य होते हालात को देखते हुए योगी आदित्यनाथ सरकार ने धार्मिक स्थलों को साप्ताहिक बंदी के दिन भी खुले रखने का फैसला लिया। कोरोना के कारण लंबे समय से धार्मिक स्थलों के बंद रहने के कारण लोग आराध्य के दर्शन और पूजन के लिए परेशान थे। इस दौरान सरकार ने पुलिस तथा जिला प्रशासन को कहीं भी अनावश्यक भीड़ नहीं जुटने देने का भी निर्देश दिया है। इसमें भी पुलिस को लोगों के साथ संवेदनशील व्यवहार करने के निर्देश दिए गए हैं। पुलिस का सहयोगी रवैया अपनाते हुए सम्मानजनक तरीके से कानून का पालन सुनिश्चित करने को कहा गया है।

कोरोना वायरस की सेकेंड स्ट्रेन को को काबू में करने के साथ ही प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार लगातार हालात को सामान्य करने में जुटी है। सोमवार को प्रदेश में बाजार, रेस्टोरेंट और शापिंग माल को रात 9 बजे तक के लिए खोला गया है। प्रदेश में अभी साप्ताहिक लागू रहेगी। साप्ताहिक बंदी के दौरान सभी बाजारों, रिहायशी इलाकों और दफ्तरों को सैनिटाइज करने का काम जारी रहेगा। 

Edited By: Dharmendra Pandey