लखनऊ(जेएनएन)। लोकतंत्र के महापर्व यानी मतदान में भागीदारी करने के लिए वोटर बनना अनिवार्य है। इसके लिए रविवार को बूथों पर मतदाता पुनरीक्षण अभियान चलाया गया, लेकिन अधिकांश बीएलओ (बूथ लेवल ऑफिसर) की मनमानी व अव्यवस्था के चलते कई केंद्रों पर सन्नाटा रहा। उजरियांव समेत कई मतदान केंद्रों पर ताला लटका रहा। विराम खंड के छह बूथों पर फार्म आठ व आठ-क बंटा ही नहीं। निशातगंज के राजकीय इंटर कॉलेज समेत कई मतदान केंद्रों को राष्ट्रीय सुरक्षा अकादमी की परीक्षा का केंद्र बना दिया गया। ऐसे में मतदाता बनने व नाम संशोधन कराने के लिए लोग भटकते रहे। शहर व ग्रामीण इलाकों के कई मतदान केंद्रों पर निर्वाचन आयोग के इस विशेष अभियान की 'जागरण टीम' ने पड़ताल की। मतदान केंद्रों की व्यवस्था व लोगों की परेशानी को बयां करती रिपोर्ट..। बीएलओ गायब, परेशान हुए वोटर:

विराम खंड में सात पोलिंग बूथ हैं। तीनों बूथों के बीएलओ (रवींद्र, अभिषेक व राज श्रीवास्तव) नदारद रहे। इन पोलिंग बूथों पर पहुंचे वोटर नाम हटवाने व बढ़वाने के लिए परेशान रहे। चार बीएलओ (कृष्ण कुमार, आकांक्षा बाजपेयी, शीला व राजेश) ने बताया कि उन्हें फार्म आठ व आठ क नहीं मिला, जबकि फार्म सात व आठ की सिर्फ दस-दस प्रतियां दी गई। उधर, उजरियांव मतदान केंद्र पर ताला लगा रहा। विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष सज्जन ने बताया कि कुछ लोग फार्म भरने आए थे, लेकिन बीएलओ नहीं मिले। विवेक खंड के मतदान केंद्र पर सुपरवाइजर समेत बीएलओ तो मिले, लेकिन यहां भी फार्म की कमी रही। जियामऊ मतदान केंद्र पर भी फार्म की कमी रही। प्रचार-प्रसार की कमी के चलते सिर्फ तीन लोग ही नाम संशोधन कराने पहुंचे।

विस चुनाव में वोट डाला, लोस चुनाव में सूची से नाम गायब:

विराम खंड निवासी विक्रांत ने बताया कि उन्होंने विधानसभा निर्वाचन में वोट डाला था, लेकिन लोक सभा चुनाव की मतदाता सूची से नाम कट गया। यहां के बीएलओ ने बताया कि 2017 के कई मतदाताओं का सूची में नाम है, लेकिन उनके कार्ड नहीं दिए गए। जबकि इस वर्ष के अधिकांश वोटरों के पहचान पत्र मिल गए हैं।

यहां भी बेअसर रहा पुनरीक्षण अभियान :

-नरायन खेड़ा में सर्फ नौ फार्म भरे गए। जुलाई में यहां नाम बढ़ाने के 90 फार्म भरे गए थे, लेकिन 34 नाम ही बढ़ाए गए। छोटी खेड़ा में बीएलओ गायब रहे।

-मोहनलालगंज के नवजीवन इंटर कॉलेज में पोलिंग सेंटर पर दोपहर तक सिर्फ नौ फार्म भरे गए। दिनभर बीएलओ वोटर का इंतजार करते रहे।

-बीकेटी के कठवारा व इंदौरा में प्रचार-प्रसार न होने का असर दिखा। सिर्फ आठ युवाओं ने ही वोटर बनने के लिए आवेदन किया।

-अर्जुनगंज में बीएलओ दिनभर खाली बैठे रहे। हरिहरपुर में चार बूथों पर बीएलओ मौजूद रहे। गिने-चुने लोगों ने नाम बढ़ाने व हटवाने का फार्म भरा।

-काकोरी के त्रिलोकी इंटर कॉलेज में कुल 17 फार्म भरे गए। टाउन एरिया में दो पोलिंग बूथों पर सिर्फ चार लोगों ने ही मतदाता बनने के लिए फार्म भरे।

-आलमबाग के बरगवां मतदान केंद्र में बीएलओ मौजूद रहे। यहां नाम कटने व नए नाम जोड़ने के लिए फार्म भरने में लोग जुटे रहे।

'लोकतंत्र का ये आधार, मतदान आपका अधिकार' :

देश में हर वयस्क नागरिक को मतदान का अधिकार है। मतदान लोकतंत्र का आधार भी है। एक-एक वोट से जीत और हार होती है। ऐसे में सशक्त सरकार बनाने के लिए लोकतंत्र के महापर्व यानी चुनाव में मतदान के जरिए आपकी भागीदारी भी होनी चाहिए। जिलाधिकारी/ जिला निर्वाचन अधिकारी कौशल राज शर्मा ने रविवार को गोमतीनगर विस्तार स्थित सरस्वती अपार्टमेंट में मतदाता कैंप का शुभारंभ किया। उन्होंने युवाओं से मतदाता बनने और लोगों को इसके लिए प्रेरित करने की अपील भी की।

उपजिलाधिकारी बीकेटी पल्लवी मिश्रा ने कहा कि इस विशेष अभियान में जिस व्यक्ति की आयु 18 वर्ष हो गई हो या एक जनवरी 2019 तक पूरी होने वाली हो वे फार्म भर कर वोटर बन सकते हैं। एडीएम ने बताया कि 23 सितंबर, सात अक्टूबर, 14 अक्टूबर व 28 अक्टूबर को भी विशेष अभियान चलेगा। इसमें नाम जोड़ने, हटाने के साथ संशोधित करने के लिए भी आवेदन फार्म भर सकते हैं। संचालन संजय शर्मा ने किया। इस दौरान यहां करीब 600 लोगों ने आवेदन फार्म भरे। डीएम ने पहनी जादू की माला, पढ़ा जागरूकता संदेश :

जादूगर राजेश श्रीवास्तव ने जादू के जरिए मतदान जागरूकता का संदेश दिया। जादू से दो माला निकाली और उसे डीएम व एडीएम को पहनाया। इसके बाद बॉक्स से मतदान जागरूकता संदेश के पंपलेट निकाले। डीएम व एसडीएम ने उसमें लिखे संदेश को पढ़कर लोगों को सुनाया और वोटर बनने की अपील की। डीएम के रास्ते से हटाया अतिक्रमण :

रविवार सुबह 11 बजे डीएम को सरस्वती अपार्टमेंट पहुंचना था, इस सूचना पर गोमतीनगर पुलिस सक्रिय हो गई। शहीद पथ के आस-पास ठेले वालों, ई-रिक्शा व ऑटो चालकों को भगाया। सर्विस रोड पूरी तरह से खाली कराई। इसका विरोध कर रहे कुछ लोगों को पुलिस के आक्रोश का सामना भी करना पड़ा। नौ बीएलओ पर होगी विभागीय कार्रवाई :

मतदाता पुनरीक्षण अभियान का रविवार को प्रशासनिक अधिकारियों ने निरीक्षण किया। लखनऊ मध्य विधानसभा के 83 मतदान केंद्रों में नौ बीएलओ अनुपस्थित रहे। एडीएम वित्त एवं राजस्व अवनीश सक्सेना ने बताया कि इन बीएलओ के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई की सिफारिश की गई है। निरीक्षण टीम में सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, एसीएम प्रथम, तहसीलदार न्यायिक प्रदीप कुमार यादव, तहसीलदार नगर निगम सविता शुक्ला, नायब तहसीलदार निर्वाचन शशि कुमार त्रिपाठी शामिल रहे। उधर, अपर जिलाधिकारी प्रशासन शिव प्रकाश गुप्ता ने मतदान केंद्र वाले विद्यालयों को एनडीए की परीक्षा केंद्र बनाए जाने के बाबत कहा कि चार-पांच मतदान केंद्रों पर परीक्षा थी। परीक्षा को टाला नहीं जा सकता था, इसलिए बीएलओ के बैठने की केंद्र के बगल व्यवस्था कराई गई थी। अभी यह अभियान दो महीने तक चलेगा। जो व्यक्ति मतदाता फॉर्म भरने से छूट गए हैं, वे 23 सितंबर को विशेष अभियान में फॉर्म भर सकते हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप