लखनऊ, जेएनएन। पूरे देश कोरोना संक्रमण से राहत दिलाने के लिए वैक्सीनेशन अभियान चलाया जा रहा है। सरकार लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए जागरूक कर रही है। अलग-अलग प्रचार माध्यमों से बताया जा रहा है कि संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीन ही कारगर उपाय है। फिर भी कुछ लोग अब भी हिचकिचा रहे हैं या वैक्सीनेशन के महत्व से अनजान हैं। कुछ लोग इंजेक्शन के डर से वैक्सीन लगवाने से भाग रहे हैं तो कई में वैक्सीन को लेकर अनरगल भ्रांतियां भरी हुई हैं। ऐसे कई वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, जिसमें लोग वैक्सीन लगवाने के लिए मनाते हुए नजर आ रहे हैं, तो कहीं वैक्सीन लगवाने के लिए पटका-पटकी तक हो रही है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के बलिया से आया है। 

बलिया जिले के रेवती क्षेत्र में टीकाकरण करने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम को देखते ही एक युवक पेड़ पर चढ़ गया। काफी प्रयास के बाद वह पेड़ से नीचे उतरा और इंजेक्शन लगवाया। दूसरी ओर टीका लगवाने के नाम पर उग्र हुआ एक नाविक टीम के एक कर्मचारी से हाथापायी करने लगा और उसे नदी के किनारे ही पटक दिया। इस घटना का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रेवती की टीम गांवों में टीकाकरण करने के अभियान में जुटी हुई है। बताया जा रहा है कि टीम रेवती क्षेत्र के हड़ियाकलां गांव में पहुंची थी। टीम को देखते ही एक युवक पेड़ पर चढ़ गया। इसके बाद टीम में शामिल चिकित्सक व कर्मचारी उससे नीचे उतरने की अपील करते रहे। करीब आधे घंटे के प्रयास के बाद युवक नीचे उतरा, तब जाकर उसका टीकाकरण हो सका।

रेवती के खंड विकास अधिकारी (बीडीओ) अतुल द्विवेदी ने बताया कि यह मामला तीन दिन पहले का है। जिलाधिकारी के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ हम लोग भी लोगों को जागरूक करने में लगे हुए थे। पहली घटना हडियाकला गांव की है जहां टीम को देख कर एक युवा पेड़ पर चढ़ गया। उसको समझाने के बाद नीचे उतरा और टीका लगवाया। दूसरी घटना सरयू नदी के दतहा चट्टी की है। यहां नाविक नदी उस पार से किसानों को लाने का काम करते हैं। टीका के लिए कहने पर एक नाविक उलझ गया। समझाने के बाद उसने भी टीका लगवाया।

Edited By: Umesh Tiwari