लखनऊ, जेएनएन। प्रवासी श्रमिकों व कामगारों की सुरक्षा और उनकी सहायता को लेकर उत्तर प्रदेश के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने नई गाइडलाइन तय की है। कामगारों के लिए जल्द ट्रेनों की संख्या बढ़ने की संभावना को देखते हुए डीजीपी ने रेलवे के अधिकारियो से समन्वय बढ़ाने को भी कहा है।

डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने कहा है कि रात के समय प्रवासी कामगारों का कोई वाहन नहीं चलेगा। पूर्व से तय समय के अनुसार रात में वाहनों के आवागमन को रोकने के लिए अधिकारियों व थानेदारों को चेकिंग के निर्देश दिए गए हैं। एसएसपी और एसपी समेत अन्य अधिकारी रात्रि गश्त करेंगे। अधिकारी यह भी देखेंगे कि वाहन सुरिक्षत व निर्धारित गति में ही चलें।

डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने फिर स्पष्ट किया कि कोई भी प्रवासी कामगार पैदल, दो पहिया वाहन अथवा तीन पहिया वाहनों से प्रदेश में प्रवेश नहीं कर सकेगा। पुलिसकॢमयों को यदि कहीं ऐसा कोई व्यक्ति पैदल, दो पहिया या तीन पहिया वाहन से जाता मिले तो उसे रोक कर शेल्टर होम भेजा जाये। डीजीपी ने कहा है कि जल्द प्रवासी कामगारों के लिए ट्रेनों की संख्या बढ़ाए जाने की संभावना है। ऐसे में सभी जिलों की पुलिस रेलवे विभाग से समन्वय रखे। कामगारों के आवागमन के समय सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस