लखनऊ, जेएनएन। प्रश्नपत्र लीक हो जाने के कारण रद की गई 28 नवंबर, 2021 की उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) शुचितापूर्ण कराना सरकार से लेकर शासन, प्रशासन तक के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बनी हुई है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय यूपीटीईटी 23 जनवरी, 2022 को दोबारा कराने के लिए जुटा है। इसके लिए पूरा जोर परीक्षा केंद्रों के निर्धारण पर दिया गया, लेकिन संवेदनशील जिलों में शामिल प्रयागराज, जौनपुर, कानपुर सहित दो दर्जन जिलों के केंद्रों में बदलाव न किया जाना चिंता का कारण बना हुआ है। नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए उत्तर प्रदेश परीक्षा नियामक प्राधिकारी (पीएनपी) सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने परीक्षार्थियों को आधा घंटा पहले केंद्र पर पहुंचने का निर्देश दिया है।

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा सकुशल संपन्न कराने के लिए मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा प्रदेश के जिलाधिकारियों, पुलिस अधीक्षकों सहित शिक्षा अधिकारियों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग कर चुके हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी टीम-9 की बैठक करके तैयारियों की समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। किसी अप्रिय स्थिति पर जिलाधिकारी, बीएसए एवं केंद्र प्रभारियों को जवाबदेह बनाया गया है।

कुछ परीक्षाओं में परीक्षा केंद्रों से पर्चा आउट होने की घटनाएं पहले हुई हैं। ऐसे में पीएनपी सचिव ने केंद्र से पर्चा आउट होने की संभावना खत्म करने के लिए आधा घंटा पहले केंद्र का गेट बंद करने के निर्देश दिए हैं। केंद्र पर मोबाइल या किसी भी तरह का इलेक्ट्रानिक उपकरण ले जाना प्रतिबंधित रहेगा। ऐसे में सभी परीक्षार्थियों के केंद्र पर पहुंच जाने के बाद प्रश्नपत्र खोला जाएगा, ताकि पर्चा खुलने के बाद आवाजाही न हो। जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश दिए गए हैं कि केंद्रों की दोनों पालियों की सीसीटीवी की वीडियो फुटेज के एक कापी अपने पास रखकर दूसरी कापी पीएनपी कार्यालय को भेजें। केंद्रों पर कोविड गाइडलाइन का पालन अनिवार्य रूप से कराना होगा।

दो पालियों में 21,65,179 परीक्षार्थी देंगे परीक्षा : परीक्षा दो पालियों में कराई जाएगी। पहली पाली में प्राथमिक स्तर के लिए 10:00 से 12:30 बजे की परीक्षा में 12,91,627 परीक्षार्थियों को सम्मिलित होना है। इसके लिए प्रदेश भर में 2532 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैैं। दूसरी पाली में 02:30 से 5:00 बजे तक उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा होगी, जिसमें 1733 केंद्रों में 8,73552 परीक्षार्थी शामिल होंगे।

निश्शुल्क यात्रा के लिए प्रवेशपत्र की पांच-छह कापी रखें साथ : पीएनपी सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने कहा है कि परिवहन निगम की बसों में निश्शुल्क यात्रा करने के लिए परीक्षार्थी अपने पास प्रवेश पत्र की पांच-छह प्रतियां सुरक्षित रखें। यात्रा के दौरान परिचालक को एक प्रति स्वहस्ताक्षरित उपलब्ध कराएं। उस पर परिचालक अप ट्रिप के लिए अप ट्रिप और डाउन ट्रिप के लिए डाउन ट्रिप शब्द अंकित करेंगे। उस पर यात्रा शुरू करने एवं यात्रा समाप्त करने का स्थान भी लिखा जाएगा। परीक्षार्थियों को यह सुविधा 22 से 24 जनवरी तक मिलेगी।

सतर्कता और निर्देश

  • सुरक्षित और बेदाग परीक्षा केंद्रों के निर्धारण पर जोर दिया गया है।
  • परीक्षा नियामक प्राधिकारी (पीएनपी) सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने परीक्षार्थियों को आधा घंटा पहले केंद्र पहुंचने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद गेट बंद हो जाएंगे।
  • सभी परीक्षार्थियों के केंद्र पर पहुंच जाने के बाद प्रश्नपत्र खोला जाएगा, ताकि पर्चा खुलने के बाद आवाजाही न हो।
  • केंद्र पर मोबाइल या किसी भी तरह का इलेक्ट्रानिक उपकरण ले जाना प्रतिबंधित रहेगा।
  • जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश कि दोनों पालियों की सीसीटीवी की वीडियो फुटेज की एक कापी अपने पास रखकर दूसरी पीएनपी कार्यालय को भेजें।
  • केंद्रों पर कोविड गाइडलाइन का पालन अनिवार्य रूप से कराना होगा।

Edited By: Umesh Tiwari