लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) की ओर से आयोजित की जाने वाली प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (पीईटी) में शामिल होने के लिए जिन अभ्यर्थियों ने 21 जून तक पंजीकरण करा लिया है, वे अब 25 जून तक आवेदन शुल्क जमा कर सकेंगे और अपने आवेदन को अंतिम रूप से ऑनलाइन जमा भी कर सकेंगे। इससे पहले आयोग ने पीईटी के लिए पंजीकरण कराने तथा शुल्क और आवेदन पत्र जमा करने के लिए 21 जून अंतिम तारीख तय की थी।

उत्तर प्रदेश सरकार की सेवाओं में भविष्य में विज्ञापित होने वाले समूह 'ग' के पदों पर भर्ती के लिए उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने द्विस्तरीय परीक्षा प्रणाली अपनाने का फैसला किया है, जिसके पहले चरण में प्रारंभिक अर्हता परीक्षा आयोजित की जाएगी। सोमवार यानी 21 जून को ऑनलाइन आवेदन जमा करने की आखिरी तारीख थी।

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष प्रवीर कुमार ने बताया कि सोमवार दोपहर 3:30 बजे तक कुल 26,95,539 पंजीकरण किये जा चुके थे, जबकि 17,66,856 अभ्यर्थियों ने आवेदन अंतिम रूप से जमा कर दिये थे। एनआइसी की ओर से बताया गया कि यह अंतर विभिन्न बैंकों से आवेदन शुल्क को ट्रांसफर करने में लगने वाले समय के कारण है।

इस पर आयोग ने तय किया है कि पंजीकरण की अंतिम तारीख यानी 21 जून में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा, लेकिन यदि किसी अभ्यर्थी ने 21 जून की मध्य रात्रि तक अपना पंजीकरण करा लिया है और बैंक स्तर पर लगने वाले समय के कारण शुल्क जमा कराकर अपना आवेदन अंतिम रूप से जमा नहीं कर सका है तो वह 25 जून तक शुल्क जमा कर आवेदन अंतिम रूप से जमा कर सकता है। आवेदन पत्र में संशोधन 28 जून तक ही किया जा सकेगा।

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष प्रवीर कुमार ने कहा कि समूह 'ग' भर्तियों के लिए भविष्य में आयोजित की जाने वाली मुख्य परीक्षाओं में शामिल होने के लिए पीईटी में शामिल होना अनिवार्य है। पीईटी के अंकों के आधार पर ही मुख्य परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों की शार्टलिस्टिंग की जाएगी। भर्तियों के लिए द्विस्तरीय परीक्षा प्रणाली अपनाने का फैसला किया है। इसी के तहत पहले चरण में पीईटी का आयोजन करने की तैयारी है। पीईटी के लिए आयोग ने बीती 25 मई से आवेदन आमंत्रित किये थे।

Edited By: Umesh Tiwari