लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश के प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक भर्ती की तैयारी में जुटे प्रतियोगियों के लिए ये अहम खबर है। उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) 2020 की तारीख में एक बार फिर बदलाव होगा। यह अहम इम्तिहान अब अक्टूबर या फिर नवंबर में कराए जाने की तैयारी है। परीक्षा संस्था ने 19 दिसंबर की तारीख प्रस्तावित की थी लेकिन, विभागीय मंत्री ने सहमति न देकर तारीखों को रिवाइज करने का निर्देश दिया है, ताकि उसके बाद शिक्षक भर्ती कराने की गुंजाइश बनी रहे। सूबे में दिसंबर के बाद कभी भी विधानसभा चुनाव हो सकते हैं, इसलिए परीक्षाएं आदि 15 दिसंबर के पहले कराई जा रही हैं।

उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक यानी एक से आठ तक के शिक्षक बनने के लिए टीईटी उत्तीर्ण करना अनिवार्य है, वह चाहे प्रदेश सरकार की यूपीटीईटी हो या फिर केंद्र सरकार की सीटीईटी। इसमें बीएड, डीएलएड व बीटीसी आदि पाठ्यक्रम उत्तीर्ण अभ्यर्थी शामिल हो सकते हैं। परीक्षा एक ही दिन में दो पाली में कक्षा एक से पांच व छह से आठ तक कराई जाती है। इसे उत्तीर्ण करना अनिवार्य है।

उत्तर प्रदेश सरकार ने 15 मार्च को शिक्षक पात्रता परीक्षा कराने की समय सारिणी जारी की थी। 11 मई को नोटीफिकेशन करके 18 मई से आनलाइन आवदेन 18 मई से एक जून तक लिए जाने थे। परीक्षा 25 जुलाई को होनी थी। उस समय कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर प्रभावी होने के कारण यूपी सरकार ने आवेदन प्रक्रिया स्थगित कर दी थी।

परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव उत्तर प्रदेश ने जुलाई में संशोधित समय सारिणी भेजी थी। इसमें 19 दिसंबर को परीक्षा प्रस्तावित थी। सात अगस्त को समीक्षा बैठक में बेसिक शिक्षा मंत्री डा. सतीश द्विवेदी ने इस पर असहमति जताई। उन्होंने पूछा कि पिछले वर्ष भी कोरोना की वजह से परीक्षा नहीं हो सकी, इस बार इतना विलंब क्यों? परीक्षा और पहले कराई जाए। परीक्षा संस्था ने कार्यक्रम रिवाइज किया है, अब अक्टूबर के अंत या फिर नवंबर में इम्तिहान कराने की तैयारी है, जल्द ही समय सारिणी सार्वजनिक होगी।

Edited By: Umesh Tiwari