लखनऊ, जागरण संवाददाता। चार सितंबर को आनलाइन पालीटेक्निक प्रवेश परीक्षा समाप्त होेने के नौ दिनों के अंदर परिणाम घोषित करने की तैयारी पूरी हो गई। इतने कम समय में परिणाम घोषित करने के साथ ही संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद ने सभी जिलों में 80 हेल्प डेस्क बनाकर परीक्षार्थियों की काउंसिलिंग का इंतजाम कर दिया है। 13 सितंबर को दोपहर बाद परिणाम आएगा और 14 सितंबर से काउंसिलिंग शुरू होगी। 

आनलाइन प्रवेश परीक्षा की रिपोर्ट के मुताबिक परीक्षा के लिए 3,02066 ने पंजीयन कराया था और उनमे से 187640 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए। सभी सरकारी, सहायता प्राप्त और निजी संस्थानों में प्रवेश के लिए कुल सीटें 2,44972 हैं। ऐसे में कुल सीटों में 37332 सीटों पर आवेदन ही नहीं हुए हैं। 400 के पेपर में 25 अंक सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए निर्धारित किया गया है और अनुसूचित जाति व जनजाति के लिए पास होने के लिए एक अंक ही काफी होगा। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद के कार्यवाहक सचिव राम रतन ने बताया कि परिणाम तैयार हो चुका है। सोमवार को दोपहर बाद परिषद की वेबसाइट jeecup.nic.in व jeecup.org पर परिणाम आनलाइन अपलोड कर दिया जाएगा।

इस वर्ष पंजीयन और परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की संख्या कम है। सरकारी, सहायता प्राप्त व निजी संस्थानों की कुल सीटों के मुकाबले कम परीक्षार्थियोें ने प्रवेश परीक्षा दी है। न्यूनतम अंक पाने वाले को भी प्रवेश के अधिक अवसर मिलेंगे। सभी जिलों में हेल्प डेस्क बना दी गई है। लखनऊ, गोरखपुर, बरेली, इलाहाबाद व मेरठ में दो-दो हेल्प डेस्क बनाई गई है। जहां परीक्षार्थी अपने दस्तावेजों की जांच करा सकते हैं। कोरोना संक्रमण के चलते इस बार परीक्षार्थी अपने गृह जिले में दस्तावेजों की जांच कर प्रवेश ले सकेंगे। इस सुविधा से अभ्यर्थी यात्रा करने से बचेंगे, जिससे उन्हें मानसिक सुकून भी मिलेगा। 

पालीटेक्निक पर एक नजर 

  • सरकारी संस्थान-150
  • सहायता प्राप्त संस्थान-19
  • निजी संंस्थान-1202
  • कुल सीटें-2,44972
  • परीक्षा में शामिल-1,87440

Edited By: Vikas Mishra