Move to Jagran APP

UP Lok Sabha Result 2024: …तो इसलिए कमजोर पड़ा एनडीए, चुनाव आयोग की रिपोर्ट में उजागर हुई बड़ी खामियां

लोकसभा चुनाव में एनडीए के कमजोर प्रदर्शन की एक वजह प्रदेश सरकार के कुछ मंत्रियों का अपेक्षाओं पर खरा न उतरना भी रहा है। प्रदेश सरकार के 17 मंत्री अपने विधानसभा क्षेत्र में पार्टी को जीत नहीं दिला सके। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक सहित 23 मंत्रियों के विधानसभा क्षेत्र में एनडीए को बढ़त हासिल हुई है।

By Jagran News Edited By: Shivam Yadav Fri, 14 Jun 2024 03:51 PM (IST)
UP Lok Sabha Result 2024: …तो इसलिए कमजोर पड़ा एनडीए।

आनंद मिश्र, लखनऊ। लोकसभा चुनाव में एनडीए के कमजोर प्रदर्शन की एक वजह प्रदेश सरकार के कुछ मंत्रियों का अपेक्षाओं पर खरा न उतरना भी रहा है। प्रदेश सरकार के 17 मंत्री अपने विधानसभा क्षेत्र में पार्टी को जीत नहीं दिला सके। 

वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक सहित 23 मंत्रियों के विधानसभा क्षेत्र में एनडीए को बढ़त हासिल हुई है। हाल ही में चुनाव आयोग द्वारा परिणामों की विधानसभा वार जारी विस्तृत रिपोर्ट में यह तथ्य उजागर हुए हैं।

इन मंत्रियों ने गंवाई अपनी सीट

पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह मैनपुरी में खुद अपनी ही सीट नहीं बचा सके। मैनपुरी निर्वाचन क्षेत्र की सभी सभी पांचों विधानसभा सीटों पर उन्हें हार का समाना करना पड़ा। 2022 के विधानसभा चुनाव में सपा का तिलिस्म तोड़ते हुए उन्होंने यहां से सम्मानजनक जीत हासिल की थी, इस बार वहीं 26,265 वोटों से पिछड़े। 

राज्यमंत्री अनूप प्रधान वाल्मीकि ने हाथरस से बड़े अंतर से लोकसभा चुनाव में जीत हासिल की लेकिन खैर विधानसभा जहां से वह विधायक बने थे, भाजपा मामूली अंतर (1401) से पिछड़ गई। सरकार के वरिष्ठ मंत्री सूर्य प्रताप शाही के विधानसभा क्षेत्र पथरदेवा में भाजपा 5761 वोटों से पीछे रही। 

एमएसएमई मंत्री राकेश सचान के भोगनीपुर विधानसभा क्षेत्र में भी भाजपा को जीत हासिल नहीं हुई और वह 31 हजार से अधिक वोटों से पिछड़ी। लोकसभा चुनाव के कुछ माह पूर्व एनडीए गठबंधन का हिस्सा बन मंत्री पद हासिल करने वाले ओम प्रकाश राजभर के जहूराबाद में भी सपा ने भाजपा को 14,187 वोटों से पीछे छोड़ा।

विधानसभा क्षेत्रों में एनडीए को झटका

कुल 17 मंत्रियों के विधानसभा क्षेत्रों में एनडीए को झटका लगा है। हालांकि, बेहतर प्रदर्शन करने वाले सरकार के मंत्रियों की संख्या इनसे कहीं अधिक है। गन्ना मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने अपने विधानसभा क्षेत्र छाता में भाजपा को 74 हजार से अधिक वोटों की बढ़त दिलाई। 

मुख्यमंत्री योगी के गोरखपुर शहर में भी भाजपा 47,614 वोटों से आगे रही जबकि उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक के लखनऊ कैंट में भाजपा को 37 हजार से अधिक की लीड हासिल हुई। 

कैबिनेट मंत्रियों में सुरेश कुमार खन्ना, बेबी रानी मौर्य, धर्मपाल सिंह, नंद गोपाल नंदी, अनिल राजभर व योगेंद्र उपाध्याय के विधानसभा क्षेत्रों भी एनडीए को बढ़त बनाने में कामयाब रहा।

मंत्री जिनके खुद के विधानसभा क्षेत्र में हारी भाजपा

कैबिनेट मंत्री विधानसभा आईएनडीआईए एनडीए
सूर्य प्रताप शाही  पथरदेवा  97035 (कांग्रेस)  91274 (भाजपा)
जयवीर सिंह मैनपुरी 103888 (सपा) 33400 (भाजपा)
राकेश सचान भोगनीपुर 106873 (सपा)  75848 (भाजपा)
ओम प्रकाश राजभर जहूराबाद 105618 (सपा) 91431 (भाजपा)
गिरीश चंद्र यादव जौनपुर 116218 (सपा) 94014 (भाजपा)
असीम अरुण कन्नौज 138567 (सपा) 104323 (भाजपा)
मयंकेश्वर शरण सिंह तिलोई  101405 (कांग्रेस)  83287 (भाजपा)
संजीव कुमार गोंड  ओबरा  60623 (सपा)  55963 (अपना दल)
ब्रजेश सिंह देवबंद 73283 (कांग्रेस) 48243 (भाजपा)
सुरेश राही हरगांव 90862 (सपा) 88932 (भाजपा)
सोमेंद्र तोमर मेरठ दक्षिण 140354 (सपा) 119881 (भाजपा)
अनूप प्रधान खैर 95606 (सपा)  94205 (भाजपा)
प्रतिभा शुक्ला अकबरपुर रनिया 108489 (सपा) 79046 (भाजपा)
रजनी तिवारी शाहाबाद 98331 (सपा)  92161 (भाजपा)
सतीश चंद्र शर्मा दरियाबाद  131277 (सपा) 121183 (भाजपा)
विजय लक्ष्मी गौतम सलेमपुर 79791 (सपा) 71085 (भाजपा)
राकेश राठौर गुरू सीतापुर 109249 (कांग्रेस) 92923 (भाजपा)

यह भी पढ़ें: UP Election News: लोकसभा चुनाव तो पूरा… अब कांग्रेस के सामने नई चुनौती, इन तीन सीटों पर ‘हाथ’ की दावेदारी!

यह भी पढ़ें: UP Police Outsourcing: अखिलेश यादव ने ‘आउटसोर्सिंग’ भर्ती मामले में योगी सरकार को घेरा, कर दिए बड़े दावे