लखनऊ, जागरण संवाददाता। लखीमपुर उत्तर प्रदेश सरकार के जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने कहा कि बीते दिनों पहाड़ों पर हुई मूसलाधार बारिश के कारण सूबे के कई जिलों में बाढ़ की स्थिति पैदा हुई। लेकिन, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर जिला प्रशासन ने पूरी जिम्मेदारी के साथ इसका मुकाबला किया। सरकार और प्रशासन के लोग हर मोर्चे पूरी मुस्तैदी के साथ डटे रहे। अब लगभग हर जगह स्थिति नियंत्रण में है। प्रशासन की टीम पूरी जिम्मेदारी से अपना दायित्व निभा रही है। जल शक्ति मंत्री लखीमपुर खीरी और पीलीभीत के हवाई सर्वेक्षण के बाद यहां शारदा नगर में पत्रकार वार्ता कर रहे थे।

मंत्री महेंद्र सिंह ने कहा है कि वह शारदा नगर बैराज पर यहां समीक्षा बैठक करने आये थे। यहां  देखा की बहुत गांवों में बाढ़ का पानी भर गया है। हालांकि, प्रशासन मुस्तैदी से निगरानी कर रहा है। एसडीआरएफ की टीम, एसएसबी, आरबीएस, पीएससी और प्रोडक्शन की टीम जिला प्रशासन के सभी अंतर विभागीय लोग अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहे हैं। यहां पर 80 नाव लगाई गई हैं। 16 मोटर बोट लगे हुए हैं। वायु सेना के हेलीकॉप्टर से बाढ़ पीड़ितों को रेस्क्यू किया गया है। 545226 क्यूसेक पानी शारदा नदी घाघरा नदी में आया है । घाघरा नदी में 491000 क्यूसेक आया है।

300 गांव में और घरों में पानी घुस गया है। मंत्री ने कहा कि सभी अधिकारियों को समीक्षा बैठक के दौरान निर्देशित किया गया है कि गांव में खाने के पैकेट व दवाई की व्यवस्था की जाए। पशुओं के लिए चारे की व्यवस्था की जाए। इस दौरान डीएम अरविंद कुमार चौरसिया, एसडीएम अरुण सिंह, एसपी विजय ढुल्ल, एडिशनल एसपी अरविंद कुमार वर्मा , सुनील सिंह भाजपा जिला अध्यक्ष, सदर विधायक योगेश वर्मा, निघासन विधायक शशांक वर्मा, श्रीनगर विधायक मंजू त्यागी, रंजन कुमार नोडल अध्यक्ष और आयुक्त लखनऊ मंडल, एसी धर्मेंद्र कुमार जेपी सिंह और अधिशासी अभियंता राजीव कुमार सिचाई विभाग के जेई सिंचाई खंड शारदा नगर आदि लोग मौजूद रहे। 

Edited By: Vikas Mishra