लखनऊ, राज्य ब्यूरो। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत पांच अगस्त को अन्न महोत्सव मनाया जाएगा। अन्न महोत्सव के मौके पर प्रधानमंत्री प्रदेश के पांच जिलों में राशन दुकानों पर मौजूद योजना के लाभार्थियों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद करेंगे। सरकार इस कार्यक्रम को उत्सव की तरह मनाने की तैयारियों में जुट गई है। मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने सभी नोडल अधिकारियों को बुधवार को आवंटित जिलों में पहुंच कर योजना के तहत अन्न महोत्सव की तैयारी और योजना के विभिन्न बिंदुओं की समीक्षा करने का निर्देश दिया है। 

योजना के तहत पांच से 16 अगस्त तक चलने वाले अगले वितरण चक्र में प्रदेेश के 41 लाख अंत्योदय कार्डधारक और 3.18 करोड़ पात्र गृहस्थी राशन कार्डधारकों को परिवार के प्रत्येक सदस्य के हिसाब से पांच किलोग्राम अनाज मुफ्त दिया जाएगा। लाभार्थियों को अनाज जिस बैग में दिया जाएगा, उस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो होगी। अन्न महोत्सव के लिए राशन दुकानों को सजाया जाएगा। प्रधानमंत्री के उद्बोधन के सजीव प्रसारण के लिए राशन दुकानों पर टेलीविजन सेट लगाये जाएंगे। राशन दुकानों पर सेल्फी प्वाइंट भी बनाये गए हैं। प्रत्येक दुकान के लिए जिलाधिकारी की ओर से नोडल अधिकारी नामित किए गए हैं, जो मौके पर मौजूद रहकर अनाज का सुचारु वितरण सुनिश्चित करेंगे। राज्य सरकार की ओर से जिलों को अनाज और बैग की आपूर्ति कर दी गई है।

मुख्य सचिव के निर्देश के मुताबिक नोडल अधिकारी आवंटित जिले में अन्न महोत्सव की तैयारियों की समीक्षा करेंगे। वे राशन दुकान पर डीएम की ओर से नामित अधिकारी द्वारा की जा रही तैयारी, दुकानों पर बैग व टीवी सेट की उपलब्धता की स्थिति, सेक्टर मजिस्ट्रेट के कामकाज, पुलिस बल की उपलब्धता और कोविड प्रोटोकाल के साथ अतिथियों व लाभार्थियों के बैठने की व्यवस्था की समीक्षा करेंगे। इसके अलावा विभिन्न सरकारी योजनाओं जैसे कि जिला योजना, सांसद निधि, पंचायत की निधियों व अन्य विभागीय योजनाओं के अधूरे कार्यों की समीक्षा करेंगे। इन सभी कार्यों को तेजी से पूरा कराने के लिए नोडल अधिकारियों की देखरेख में तत्काल कार्ययोजना बनाकर उसे अमलीजामा पहनाने के लिए कहा गया है। नोडल अधिकारी पांच अगस्त को कार्यक्रम के समापन के बाद ही लौटेंगे।

Edited By: Vikas Mishra