लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में पिछले दिनों मनोनीत हुए भारतीय जनता पार्ची के चार नए विधान परिषद सदस्यों (एमएलसी) को बुधवार को शपथ दिलाई गई। विधान भवन के राजर्षि पुरुषोत्तम टंडन हाल में आयोजित कार्यक्रम में शपथ विधान परिषद के सभापति कुंवर मानवेन्द्र सिंह ने दिलाई। शपथ लेने वालों में कैबिनेट मंत्री जितिन प्रसाद, संजय निषाद, चौधरी वीरेंद्र सिंह और गोपाल अंजान हैं। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी उपस्थित रहे।

बता दें कि पिछले माहीने भाजपा संगठन और सरकार ने चार ऐसे कार्यकर्ताओं के नाम विधान परिषद सदस्य के लिए चुने, जिनके सहारे विधानसभा चुनाव की रणनीति को चौतरफा साधने में मदद मिले। अलग-अलग समीकरणों में माफिक बैठ रहे चौधरी वीरेंद्र सिंह गुर्जर, गोपाल अंदाज भुर्जी, जितिन प्रसाद और संजय निषाद को एमएलसी मनोनीत किया है। ब्राह्मण चेहरे जितिन प्रसाद एमएलसी बनाकर योगी मंत्रिमंडल में भी जगह दी गई। वहीं माना जा रहा था कि निषाद का मंत्री बनना तय है, लेकिन अंतत: समझौता एमएलसी पर ही हुआ।

मार्च, 2019 में सपा छोड़कर भाजपा में शामिल हुए छह बार के विधायक वीरेंद्र सिंह गुर्जर पर पार्टी ने भरोसा जताया है। मूल रूप से शामली के कैराना निवासी गुर्जर का जाट बेल्ट में अच्छा प्रभाव माना जाता है। इसी तरह पिछड़ों को अपनी चुनावी रणनीति में आगे लेकर चल रहे भगवा दल ने उप्र खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के उपाध्यक्ष गोपाल अंजान भुर्जी को भी विधान परिषद भेजने का निर्णय लिया गया। मुरादाबाद निवासी गोपाल सहित पिछड़ा वर्ग से संजय निषाद और वीरेंद्र गुर्जर लिए गए।

Edited By: Umesh Tiwari