Move to Jagran APP

UP Election News: लोकसभा चुनाव तो पूरा… अब कांग्रेस के सामने नई चुनौती, इन तीन सीटों पर ‘हाथ’ की दावेदारी!

लोकसभा चुनाव के बाद आने विधानसभा उपचुनाव में भी कांग्रेस व सपा के बीच सीटों का बंटवारा दिलचस्प होगा। जिन नौ विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है उनमें कांग्रेस के हिस्से खैर गाजियाबाद व मझवां की तीन सीटें आने की उम्मीद ज्यादा है। शेष छह सीटों पर सपा की स्थिति मजबूत दिख रही है और वह इन सीटों को अपने पाले में ही रखने का पूरा प्रयास भी करेगी।

By Jagran News Edited By: Shivam Yadav Thu, 13 Jun 2024 09:24 PM (IST)
UP Election News: लोकसभा चुनाव तो पूरा… अब कांग्रेस के सामने नई चुनौती।

राज्य ब्यूरो, लखनऊ। लोकसभा चुनाव के बाद आने विधानसभा उपचुनाव में भी कांग्रेस व सपा के बीच सीटों का बंटवारा दिलचस्प होगा। जिन नौ विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है, उनमें कांग्रेस के हिस्से खैर, गाजियाबाद व मझवां की तीन सीटें आने की उम्मीद ज्यादा है। 

शेष छह सीटों पर सपा की स्थिति मजबूत दिख रही है और वह इन सीटों को अपने पाले में ही रखने का पूरा प्रयास भी करेगी। लोकसभा चुनाव में गठबंधन के चलते कांग्रेस ने 17 व सपा 63 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे।

जनाधार बचाए रखने की चुनौती

ताजा चुनाव परिणाम से उत्साहित कांग्रेस व सपा दोनों की नजर अभी से अगले विधानसभा चुनाव पर हैं। इससे पूर्व नौ सीटों पर उपचुनाव दोनों दलों के लिए बेहद आपसी रिश्तों व प्रदर्शन के लिहाज से महत्वपूर्ण होगा। खासकर कांग्रेस के सामने अपने जनाधार को बचाए रखने की भी बड़ी चुनौती है।

लोकसभा चुनाव में दोनों दलों के विधानसभा क्षेत्रवार प्रदर्शन की बात की जाए तो फूलपुर में भाजपा प्रत्याशी प्रवीण पटेल व सपा उम्मीदवार अमरनाथ सिंह मौर्य के बीच कांटे की टक्कर रही। 

भाजपा प्रत्याशी 4,332 वोट से जीत दर्ज करने में कामयाब रहे। यहां फूलपुर विधानसभा क्षेत्र में उनके बीच वोटों के बंटवारे को देखें तो सपा को 88,999 वोट मिले थे। जबकि भाजपा को 80,166 वोट ही मिले थे। ऐसे में सपा फूलपुर विधानसभा सीट पर अपना उम्मीदवार उतारने का ही प्रयास करेगी।

गाजियाबाद में सपा दिखी कमजोर

गाजियाबाद की बात करें तो लोकसभा चुनाव में यहां कांग्रेस की डाली शर्मा चुनाव मैदान में थीं और भाजपा प्रत्याशी अतुल गर्ग ने उन्हें 3,36,965 मतों के भारी अंतर से हराया था। 

गाजियाबाद विधानसभा क्षेत्र में अतुल गर्ग को 1,37,206 वोट मिले थे और डाली शर्मा को 73,950 वोट ही मिले थे। ऐसे में सपा इस सीट को कांग्रेस के हिस्से में ही डालने का प्रयास करेगी। 

मीरजापुर जिले की मझवां सीट भी कांग्रेस के हिस्से आ सकती है। मीरजापुर लोकसभा सीट से अपना दल (एस) की अनुप्रिया पटेल ने सपा के रमेश चंद्र बिंद को 37,810 मतों से हराकर जीत दर्ज की है। मीरजापुर विधानसभा क्षेत्र में अनुप्रिया को 94,061 वोट व बिंद को 92,299 वोट मिले थे। यहां दाेनों के बीच कांटे की टक्कर थी। 

वहीं, लोकसभा चुनाव में अलीगढ़ जिले की खैर विधानसभा सीट व मुजफ्फरनगर जिले की मीरापुर सीट पर सपा प्रत्याशियों का प्रदर्शन संतोषजनक रहा था। खैर सीट कांग्रेस के हिस्से आ सकती है। लोकसभा चुनाव में सपा प्रत्याशी को खैर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी से 1,401 अधिक वोट मिले थे। 

इन सीटों पर सपा की दावेदारी

सपा प्रत्याशियों ने लोकसभा चुनाव में फैजाबाद, मैनपुरी, अंबेडकरनगर व संभल में जीत दर्ज की है। सपा प्रत्याशियों का अयोध्या जिले की मिल्कीपुर, मैनपुरी जिले की करहल, अंबेडकरनगर की कटेहरी व मुरादाबाद जिले की कुंदरकी विधानसभा सीट पर प्रदर्शन अच्छा रहा है। जिसके चलते उपचुनाव में इन सीटों पर सपा की दावेदारी मजबूत है।

यह भी पढ़ें: योगी सरकार ने सुनी पुकार! जमरार बांध से जामनी नदी में छोड़ा पानी, टीकमगढ़ के डेढ़ लाख निवासियों को राहत