लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश कोआपरेटिव बैंक कर्मचारियों की वेतन में वृद्धि होना तय है। बैंक संचालक मंडल की बैठक में इस पर मुहर लगी। बैंक के कर्मचारियों को खुश करने वाले कई फैसले हुए हैं। बोनस, एक्सग्रेसिया के साथ ही वेतन वृद्धि का लाभ कर्मचारियों को मिलेगा। इसमें सभी 23 प्रस्ताव स्वीकृत किए गए, 2020-21 के बैंक के बैलेंस सीट को अनुमोदित किया गया।

उत्तर प्रदेश कोआपरेटिव बैंक संचालक मंडल की बैठक बैंक के सभापति तेजवीर सिंह की अध्यक्षता में हुई। बैंक के प्रबंध निदेशक वरुण मिश्रा ने बताया है कि 2020-21 का बैलेंस सीट अनुमोदित किया गया। जिसमें बैंक का शुद्ध लाभांश 45.47 करोड़ रुपये है। 13 जिलों में बैंक की नई शाखाएं खोलने के लिए स्थान का चयन करने पर भी विचार हुआ। संचालक मंडल की ओर से लिए गए फैसले अब आयुक्त सहकारिता के पास अनुमोदन के लिए भेजा जाएगा। उम्मीद की जा रही है कि अगस्त माह के वेतन के साथ ही बोनस, एक्सग्रेशिया और वेतनवृद्धि का लाभ कर्मचारियों को मिल जाएगा।

10 से 50 हजार रुपये तक बोनस : बैंक के करीब 650 कार्मिकों को वर्ष 2020-21 के लिए बोनस दिए जाने का फैसला लिया गया है। बोनस की अधिकतम सीमा 50 हजार रुपये निर्धारित की गई है। अगस्त महीने के वेतन के साथ ही बोनस दिए जाने की उम्मीद है।

15.8 फीसदी वेतन वृद्धि का लाभ भी मिलेगा : इसके अलावा सभी कार्मिकों को एक्सग्रेसिया दिए जाने का फैसला भी लिया गया है। एक्सग्रेसिया के रूप में बैंक कर्मचारियों को करीब दो महीने के वेतन के बराबर धनराशि मिलेगी। वेतन पुनरीक्षण का लाभ भी भी बैंक के कर्मचारियों को मिलेगा। प्रत्येक कर्मचारी के वेतन में 15.8 फीसदी की वृद्धि होगी। यह वृद्धि जुलाई 2018 से लागू मानी जाएगी। जुलाई 2018 से अब तक के महीनों के वेतनवृद्धि का लाभ कर्मचारियों को एरियर के रूप में मिलेगा। वेतन पुनरीक्षण पर नौ करोड़ का व्ययभार आएगा।

Edited By: Umesh Tiwari