लखनऊ, जेएनएन। लोकसभा चुनाव 2019 में करारी हार के कारण कांग्रेस अध्यक्ष पद से राहुल गांधी के त्यागपत्र के बाद पार्टी की प्रदेश कमेटी के ओहदेदारों के बीच पद छोड़ने की होड़ मच गई है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी में भी इस्तीफों का दौर शुरू हो गया है। पद छोड़ने वाले कई पदाधिकारियों ने राहुल गांधी से अपना इस्तीफा वापस लेने का अनुरोध किया है।

इसी क्रम उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव अजय सारस्वत 'सोनी' ने लोकसभा में हार की जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से त्याग पत्र दे दिया है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को संबोधित त्याग पत्र अजय सारस्वत ने लिखा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के समर्थन में वह अपना त्याग पत्र दे रहे हैं, क्योंकि इस हार की जिम्मेदारी सभी पदाधिकारियों की है न कि किसी एक व्यक्ति की। इसलिए वह अपनी जिम्मेदारी मानते हुए पद से त्याग पत्र दे रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी में भी इस्तीफों की झड़ी

इससे पहले राहुल के समर्थन में कांग्रेस विधानमंडल दल की उपनेता व प्रदेश महामंत्री आराधना मिश्रा 'मोना' और विधान परिषद में पार्टी के नेता व प्रदेश महामंत्री दीपक सिंह ने भी अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है। प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष व पूर्व मंत्री रणजीत सिंह जूदेव, उपाध्यक्ष डॉ. आरपी त्रिपाठी, महामंत्री व पूर्व विधायक सतीश अजमानी, श्याम किशोर शुक्ल, महामंत्री व प्रवक्ता द्विजेन्द्र त्रिपाठी, ओंकारनाथ सिंह, हनुमान त्रिपाठी, विनोद मिश्रा, अशोक सिंह, अमरनाथ अग्रवाल, प्रवक्ता मुकेश सिंह चौहान, विभाग व प्रकोष्ठ प्रभारी वीरेंद्र मदान, संगठन मंत्री शिव पांडेय, सचिव व प्रवक्ता पंकज तिवारी, प्रवक्ता बृजेन्द्र कुमार सिंह व मंजू दीक्षित, सोशल मीडिया इंचार्ज संजय सिंह ने भी राहुल गांधी के पक्ष में अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है।

मीडिया विभाग के कोआर्डिनेटर राजीव बख्शी, ज्वाइंट मीडिया कोआर्डिनेटर पीयूष मिश्रा, प्रदीप सिंह, रफत फातिमा, शुचि विश्वास, सदफ जाफर, सचिन रावत, विशाल राजपूत ने भी अपने पद से त्यागपत्र दे दिया है।

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप