लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सोमवार को पार्टी के कार्यालय में बेहद ही जुदा अंदाज में थे। लखीमपुर खीरी से आए किसान तेजिंदर सिंह विर्क के साथ मीडिया को संबोधित करने के दौरान अखिलेश यादव ने हाथ में अन्न लेकर भारतीय जनता पार्टी को हराने तथा हटाने का संकल्प लिया।

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में हमारी पार्टी की सरकार बनने पर सभी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य लागू होने के साथ शपथ लेने के 15 दिन में ही सभी किसानों के गन्ना मूल्य का भुगतान कराया जाएगा। अखिलेश यादव ने कहा कि लखीमपुर खीरी की हिंसा में तेजिंदर सिंह विर्क को भी गाड़ी से कुचलने का प्रयास किया गया है। हमारी सरकार बनने पर हम इनका सम्मान करेंगे। इसके साथ ही किसानों के खिलाफ दर्ज सभी केस को वापस लेंगे। अखिलेश यादव ने कहा कि हम तो किसानों को सिंचाई के लिए बिजली मुफ्त करने के साथ ही साथ ब्याज मुक्त लोन तथा किसानों के लिए बीमा एवं पेंशन की व्यवस्था भी करेंगे। उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए बड़े-बड़े षडयंत्र और साजिश की जा रही हैं। हमारे परिवार की हमसे ज़्यादा चिंता भाजपा को है। हमारा घोषणा पत्र भाजपा के घोषणा पत्र के बाद आएगा।

अखिलेश यादव ने कहा कि हम शहीद किसान के परिवार के लोगों को भी 25-25 लाख रुपया की आर्थिक सहायता देंगे। उन्होंने कहा कि किसानों ने संघर्ष किया और अन्याय के खिलाफ लड़े। सरकार को इसके बाद किसानों की बात माननी पड़ी। हम तो किसानों पर अन्याय और अत्याचार करने वालों को हराएंगे और हटाएंगे। लखीमपुर के किसान नेता तेजिंदर सिंह विर्क ने अखिलेश यादव को अन्न संकल्प दिलाया। सपा मुखिया ने संकल्प लेने के बाद कहा कि सरकार बनने पर हम फार्मर्स रिवाल्विंग फंड की व्यवस्था करेंगे।

अखिलेश यादव ने कहा कि मैं तो हाथ में फसल और अन्न लेकर भाजपा को हराने तथा हटाने का संकल्प ले रहा हूं। हम सभी लोगों ने आज संकल्प लिया। सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि तेजिंदर विर्क को लखीमपुर खीरी में कुचलकर मारने की साजिश थी। समय पर इलाज और स्थानीय सपा कार्यकर्ताओं की मदद से यह ठीक हुये हैं। तेजिंदर विर्क तो तीन काले कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वोट पाने की खातिर भाजपा ने काले कानून वापस लिए हैं।

Edited By: Dharmendra Pandey