लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा सीटों पर भारतीय जनता पार्टी की जीत से पार्टी कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर है। तो वहीं समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता मायूस हैं। इसी बीच बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने लोकसभा उपचुनाव परिणाम आने के बाद कहा है कि भाजपा को हराने की सैद्धांतिक व जमीनी शक्ति उसके पास ही है। यह बात पूरी तरह से खासकर समुदाय विशेष को समझाने का पार्टी का प्रयास लगातार जारी रहेगा, ताकि प्रदेश में बहुप्रतीक्षित राजनीतिक परिवर्तन हो सके।

बसपा प्रमुख मायावती ने लोकसभा उपचुनाव के नतीजे आने के बाद ट्वीट कर कहा कि 'उपचुनावों को रूलिंग पार्टी ही अधिकतर जीतती है। फिर भी आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में बीएसपी ने सत्ताधारी भाजपा व सपा के हथकंडों के बावजूद जो कांटे की टक्कर दी है वह सराहनीय है। पार्टी के छोटे-बड़े सभी जिम्मेदार लोगों और कार्यकताओं को और अधिक मजबूती के साथ आगे बढ़ना है।

बीएसपी चीफ मायावती ने अपने अगले ट्वीट में कहा है कि 'यूपी के इस उपचुनाव परिणाम ने एक बार फिर से यह साबित किया है कि केवल बीएसपी में ही यहां भाजपा को हराने की सैद्धांतिक व जमीनी शक्ति है। यह बात पूरी तरह से खासकर समुदाय विशेष को समझाने का पार्टी का प्रयास लगातार जारी रहेगा ताकि प्रदेश में बहुप्रतीक्षित राजनीतिक परिवर्तन हो सके।'

बता दें कि उत्तर प्रदेश लोकसभा उपचुनाव में रामपुर में भाजपा प्रत्याशी घनश्याम लोधी ने जीत दर्ज की है। वहीं आजमगढ़ में भी भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ विजयी हुए हैं। भाजपा के निरहुआ को 312768, सपा के धर्मेंद्र यादव को 304089 और बसपा के गुड्डू जमाली को 266210 वोट मिले। इस तरह 2019 में दोनों सीटों पर जीत दर्ज करने वाली सपा रामपुर और आजमगढ़ दोनों सीटों पर हार गई है। 

यह भी पढ़ें : बसपा को भाजपा की 'बी' टीम कहे जाने पर मायावती नाराज, विरोधियों को दिया करारा जवाब

Edited By: Umesh Tiwari