लखनऊ, जेएनएन। अगर हौसला हो तो कोई भी काम नामुमकिन नहीं है। सरोजनी नगर के क्रिएटिव कॉन्वेंट कॉलेज से दसवीं के छात्र तुषार विश्वकर्मा पुत्र राजेश विश्वकर्मा ने पैरों से सफलता की इबारत लिख दी। तुषार ने कक्षा में प्रथम स्थान पाकर दिव्यांग बच्चों के लिए प्रेरणास्रोत बन गया है। 

तुषार पोलियो ग्रस्त हो जाने के कारण हाथों से लिख नहीं सकता है। स्कूल जाने की जिद और माता-पिता के प्रोत्साहन के बाद पैरों से लिखने की कोशिश की और धीरे-धीरे हाथों की जगह पैरों ने ले ली। पैरों से लिखकर हाईस्कूल की परीक्षा में प्रथम श्रेणी (67 प्रतिशत) प्राप्त कर विद्यालय और माता -पिता का नाम रोशन किया। सफलता के पीछे क्रिएटिव कॉन्वेंट के प्रबंधक योगेंद्र सचान का भी योगदान शामिल है।

उन्होंने इस दिव्यांग छात्र की हर समय निगरानी रखते हुए विशेष रूप से प्रोत्साहित किया। क्रिएटिव कॉन्वेंट कॉलेज का परीक्षा परिणाम शत-प्रतिशत रहा। इंटरमीडिएट के कुल 63 छात्र-छात्राएं प्रथम श्रेणी और हाई स्कूल के कुल 51 छात्र-छात्राएं ने प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए। इंटरमीडिएट के छात्र हार्दिक सचान ने 500 में 425 अंक पाकर कॉलेज में प्रथम स्थान हासिल किया।

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस