लखनऊ(जागरण संवाददाता)। राजधानी में यूपी बोर्ड से भले ही एक लाख विद्यार्थियों का पंजीयन हुआ था, लेकिन यहा विभिन्न जिलों की करीब 16 लाख कॉपिया जाची जाएंगी। सूबे में इस बार परीक्षार्थियों की संख्या बढ़ने से लखनऊ को पहली बार चार लाख कॉपिया ज्यादा आवंटित की गई हैं। इसकी जाच के लिए 3,982 शिक्षक लगाए जाएंगे। इसमें से प्रत्येक शिक्षक हर दिन कम से कम 50 कॉपिया हाईस्कूल की व 40 इंटरमीडिएट की जाचेंगे। इसके लिए विभाग ने पाच मूल्याकन केंद्रों का चयन भी कर लिया है।

सीसीटीवी की निगरानी में 5 केंद्रों पर होगी कॉपियों की जाच

कॉपियों की जाच 17 मार्च से शुरू होनी है। करीब 15 दिनों में सभी कॉपियों के मूल्याकन का लक्ष्य रखा गया है। सीसीटीवी की निगरानी में पाच केंद्रों पर सुबह दस से शाम पाच बजे तक जाची जाएंगी। इस अवधि में केंद्र का मुख्य गेट बंद रहेगा। विशेष परिस्थिति में ही परीक्षकों को बाहर जाने की अनुमति मिलेगी, लेकिन इसके लिए आवागमन पंजिका पर विवरण दर्ज करना होगा।

अनुपस्थित रहने पर होगी कार्रवाई सभी परीक्षकों को निरीक्षण संबंधी सूचना भेजने की जिम्मेदारी बोर्ड ने विभाग को सौंपी है। मूल्याकन केंद्र पर पहले दिन सुबह 10 बजे परीक्षकों की उपस्थिति ली जाएगी। इस दौरान गैर हाजिर होने पर शिक्षक पर प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी। विभाग ने उपस्थिति के लिए पंजिका तैयार कर ली है।

क्या कहते है अफसर?

माध्यमिक शिक्षा परिषद ने मंगलवार से परीक्षकों को नियुक्ति पत्र बाटने का निर्देश तो विभाग को भेजा, लेकिन ज्वाइनिंग लेटर अभी महकमे को मिला ही नहीं है। डीआइओएस मुकेश कुमार के मुताबिक, नियुक्ति पत्र मिलते ही उसका वितरण शीघ्र ही शुरू करा दिया जाएगा।

इन केंद्रों पर होगा मूल्याकन अमीनाबाद इंटर कॉलेज, राजकीय जुबिली इंटर कॉलेज, राजकीय इंटर कॉलेज, निशातगंज, राजकीय इंटर कॉलेज, हुसैनाबाद, नेशनल इंटर कॉलेज।

एक नजर मूल्याकन पर

आवंटित कापिया-16 लाख।

मूल्याकन केंद्र - 05

परीक्षक - 3,982

शिक्षक वार कापिया - 90 प्रतिदिन

जाच का लक्ष्य - 15 दिन में।

खत्म हुई यूपी बोर्ड परीक्षाएं

यूपी बोर्ड की परीक्षाएं सोमवार यानी 12 मार्च को समाप्त हो चुकी हैं। अंतिम दिन इंटरमीडिएट औद्यानिक संगठन विषय का पेपर था। इससे सिर्फ एक ही परीक्षार्थी का पंजीयन था, लेकिन उसके लिए भी विभाग को व्यवस्था करनी पड़ी। औद्यानिक संगठन का इकलौता परीक्षार्थी विद्यात हिंदू इंटर कॉलेज में पंजीकृत था। इलाहाबाद कार्यालय के अनुसार, अंतिम दिन इम्तिहान छोड़ने का आकड़ा बढ़ा है। 3306 के किनारा करने से बोर्ड के इतिहास में नया रिकॉर्ड बना है। हाईस्कूल में 6 लाख 31 हजार 61 सहित अब तक कुल 11 लाख 27 हजार 815 परीक्षार्थी किनारा कर चुके हैं। इसके अलावा सूबे में इंटर में 477 बालक, 157 बालिका सहित कुल 1146 परीक्षार्थी नकल करते हुए पकड़े गए हैं। पूरे इम्तिहान के दौरान कुल 136 पर एफआइआर दर्ज हुई है।

Posted By: Jagran