लखनऊ (जेएनएन)। विधान परिषद की 13 सीटों के लिए 26 अप्रैल को होने वाले चुनाव में सोमवार को भाजपा के 10, भाजपा समर्थित अपना दल (एस) से एक और समाजवादी पार्टी के एक उम्मीदवार ने नामांकन पत्र दाखिल किया। बसपा उम्मीदवार अपना नामांकन पत्र पहले ही दाखिल कर चुके हैं। चुनाव मैदान में सिर्फ 13 उम्मीदवार होने से सभी सीटों पर निर्विरोध निर्वाचन तय है। उधर, नामांकन से पहले भाजपा मुख्यालय में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने एक समारोह में गठबंधन के सभी उम्मीदवारों को माला पहनाकर शुभकामना और बधाई दी।
सबसे पहले विधान भवन के सेंट्रल हाल में समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी समेत कई प्रमुख नेताओं के साथ पहुंच कर दो सेट में नामांकन पत्र दाखिल किया। पटेल के बाद भाजपा उम्मीदवारों के नामांकन का सिलसिला शुरू हुआ। शुरुआत भाजपा प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर ने की। भाजपा अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा, कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना और परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह समेत कई प्रमुख मंत्रियों व

नेताओं की अगुवाई में भाजपा से राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. महेंद्र सिंह व राज्य मंत्री मोहसिन रजा, प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक व अशोक कटारिया, यशवंत सिंह, ठाकुर जयवीर सिंह, मजहर हुसैन अली उर्फ बुक्कल नवाब व सरोजिनी अग्रवाल (पिछले वर्ष त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल होने वाले) और भाजपा के पूर्व कोषाध्यक्ष अशोक धवन ने अपना नामांकन पत्र दो-दो सेट में दाखिल किया। सिर्फ बुक्कल नवाब ने एक सेट में पर्चा भरा। इस बीच भाजपा समर्थित अपना दल (एस) के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष सिंह पटेल ने तीन सेट में नामांकन किया। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल समेत अपना दल के विधायक और नेता मौजूद थे। गत दिनों ही बसपा के भीमराव अम्बेडकर ने अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया था।

गुरुवार को मिल जाएगा प्रमाण पत्र
निर्वाचन अधिकारी अशोक चौबे ने बताया कि मंगलवार को नामांकन पत्रों की जांच होगी। गुरुवार, 19 अप्रैल को नाम वापसी है और उसी दिन तीन बजे के बाद सभी उम्मीदवारों को प्रमाण पत्र दे दिया जाएगा। इस चुनाव में 26 अप्रैल को मतदान सुनिश्चित था, लेकिन अब मतदान की नौबत नहीं आएगी। सोमवार को दिन में तीन बजे के बाद ही पूरी स्थिति स्पष्ट हो गई क्योंकि किसी 14वें उम्मीदवार ने नामांकन नहीं किया। सोमवार को तीन बजे तक नामांकन का अंतिम समय था।

और मजबूत हुई भाजपा की विश्वसनीयता
'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के सामाजिक समीकरणों के अनुरूप समर्पित कार्यकर्ताओं तथा भाजपा में अपनी सदस्यता त्यागकर आये लोगों को उम्मीदवार बनाने के भाजपा नेतृत्व के फैसले से पार्टी की विश्वसनीयता और मजबूत हुई है। चुने जाने वाले उम्मीदवार पार्टी की नीतियों और कार्यक्रमों को जन-जन तक ले जाएंगे। 
डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय, प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा

त्याग पत्र देने वालों का भरोसा कायम
'प्रदेश में सामाजिक समीकरण के साथ हर जाति और वर्ग को भाजपा ने विधान परिषद में प्रतिनिधित्व दिया है। भाजपा राजनीति में विश्वसनीयता का प्रतीक है। नौ माह पहले कुछ लोगों ने अपनी सदस्यता से त्याग पत्र देकर भाजपा में भरोसा जताया और उस भरोसे को कायम रखने के साथ समर्पित कार्यकर्ताओं को भाजपा ने उम्मीदवार बनाया है। मोदी के विकास और सुशासन की मुहिम को ये सिपाही आगे बढ़ाएंगे।Ó
योगी आदित्यनाथ
मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश  

By Dharmendra Pandey