रायबरेली, जागरण संवाददाता। केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने यहां कहा कि इस दीपावली पर दो दीया सैनिकों के नाम जलाएं। एक दीया शहीदों के नाम हो जबकि दूसरा उन जवानों के लिए जो सरहद पर देश की रक्षा के लिए खड़े हैं। केंद्रीय मंत्री बुधवार को सलोन विधानसभा क्षेत्र के ममुनी गांव में आयोजित चौपाल में संबोधित कर रही थीं। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि 2019 के चुनाव में यही मुलाकात हुई थी। हमारा संकल्प था की आप लोगों के बीच आऊंगी, आई। काम कराने का वचन दिया था, कराया।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 2014 का चुनाव हारने के बाद भी काम किया। दो साल में विधानसभा, न्याय पंचायत स्तर पर जो काम किया, वह अलग। गांव में 90 लाख रुपये से खड़ंजा, हैण्डपम्प, सड़क आदि का निर्माण कराया। उन्होंने गांव में कहां से कहां तक क्या काम कराया, इसकी भी जानकारी दी। कहा, यह जानकारी इसलिए दे रही, क्योंकि मैं सिर्फ सांसद ही नहीं, दीदी भी हूँ। आप लोग दीदी कहते हैं इसलिए जानकारी रखती हूँ। अमेठी सांसद ने इशारों इशारों में रायबरेली सांसद सोनिया गांधी पर तंज भी कसा। कहा कि एक जनपद में सांसद दो हैं। हम सारा हिसाब दे रहे हैं, सामने वाली भी क्या यह बता पाएंगी की वे कहां कहां क्या काम करा सकीं। सवाल किया क्या वे आप लोगों के बीच आती हैं।

स्मृति ने कहा कि आपने ऐसा जनप्रतिनिधि चुना जो आकर हिसाब दे सकती है। आगे भी आशीर्वाद बना रहे। इसी मंच से पूर्व सैनिकों, प्रधानों, आशा बहुओं का सम्मान किया। उन्होंने कहा कि दीपावली पर जब दीप जलाएं एक वीर गति को प्राप्त सैनिक जबकि दूसरा उनके लिए जो सीमा पर दीप नहीं जला सकते, वे रक्षा में मुस्तैद हैं। केंद्रीय मंत्री ने ग्रामीणों से कहा कि 29 अक्टूबर को गांव में प्रशासन की चौपाल लगेगी, जिसमें सभी तरह की समस्याओं का निदान होगा। इससे पहले मंत्री ने ग्राम पंचायत भवन का लोकार्पण किया और प्राथमिक विद्यालय के बच्चों से बात की। इसके बाद धरई गांव में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने रवाना हो गईं।

Edited By: Anurag Gupta