लखनऊ(जागरण संवाददाता)। राजधानी के बर्लिग्टन चौराहे पर गुरुवार रात करीब 9 बजे एक महानगर परिवहन निगम की बस का ब्रेक फेल हो गया। बेकाबू बस ने सात लोगों को कुचल दिया, जिसमें दो की मौत हो गई। हादसे में पाच लोग घायल हुए। इनमें दो की हालत नाजुक बनी हुई है। घटना से आक्रोशित लोगों ने प्रदर्शन कर बस में तोड़फोड़ के साथ आग लगाने की कोशिश की। बता दें, 24 घंटे पहले यानी बुधवार को महापौर संयुक्ता भाटिया की सरकारी कार का ब्रेक पैडल टूट गया था। चालक ने सूझबूझ से बड़ा हादसा होने से बचा लिया था।

बेकाबू बस राहगीरों को कुचलती हुई एक कार से जा भिड़ी

विधानसभा मार्ग से चारबाग की ओर जा रही तेज रफ्तार 12 नंबर बस का गुरुवार रात बर्लिग्टन चौराहे के पास ब्रेक फेल हो गया। इससे बस अनियंत्रित हो गई और स्कूटी सवार मा-बेटी, एक साइकिल सवार और पैदल जा रहे दो लोगों को कुचलती हुई एक कार से जा भिड़ी। हादसे के बाद गुस्साए लोगों ने बस में तोड़फोड़ शुरू कर दी। बस में बैठी सवारियों ने किसी तरह अपनी जान बचाई। लोगों ने बस में आगजनी करने की कोशिश की। हादसे के समय इंस्पेक्टर कैसरबाग डीके उपाध्याय पुलिस बल के साथ वाहन चेकिंग कर रहे थे, तभी हादसा हुआ। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया।

क्रेन की मदद से निकाले गए घायल

प्रत्यक्षदर्शी दानिश, फरान और अजरुन गुप्ता ने बताया कि बस में सवार पुरुष, महिलाएं और बच्चे चीख-पुकार करने लगे। भीड़ को उग्र देख वह आनन-फानन किसी तरह बस से निकले। इस बीच इंस्पेक्टर कैसरबाग भी मौके पर आ गए। उन्होंने पुलिस बल की मदद से तोड़फोड़ कर रहे लोगों को खदेड़ दिया और राहगीरों की मदद से बस और कार के बीच फंसी स्कूटी सवार सुबोधनी, उनकी बेटी गौरी और साइकिल सवार दुर्गा प्रसाद व अन्य घायलों को निकाला। कुछ घायल बस, कार के नीचे फंसे हुए थे। इस पर इंस्पेक्टर ने क्त्रेन मंगाकर कार हटवाई और नीचे फंसे हुए घायलों को निकला। इस बीच एएसपी पूर्वी सर्वेश मिश्र, एएसपी ट्रैफिक रवि शकर निम, सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्र व कई थानों की फोर्स ने स्थिति संभाली। हादसे से विधानसभा मार्ग, कैंट रोड, कैसरबाग, उदयगंज, स्टेशन रोड पर जाम लग गया। मशक्कत के बाद रात करीब 11 बजे जाम खोला जा सका।

कोई नौकरी तो कोई खरीदारी कर लौट रहा था घर

एएसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र के मुताबिक, हादसे में घसियारीमंडी कैसरबाग निवासी हामिद हुसैन वारसी (55) और शोभित (27) निवासी खीरी गोला गोकरन नाथ की मौत हो गई। जबकि मुरलीनगर निवासी कार सवार शरद अग्रवाल (55) उनका चालक पप्पू और स्कूटी सवार छितवापुर निवासी सुबोधनी (42), उनकी बेटी गौरी एवं पैदल सड़क पार कर रहे मसकगंज निवासी दुर्गा प्रसाद (40) घायल हो गए। शरद चारबाग की ओर जा रहे थे। वहीं, सुबोधनी अपनी बेटी के साथ बाजार से खरीदारी करके स्कूटी से घर जा रही थीं। दुर्गा प्रसाद उदयगंज में नौकरी करते हैं। वह छुट्टी के बाद पैदल घर जा रहे थे। हादसे में कार, स्कूटी और साइकिल बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। घटना के बाद विधानसभा मार्ग, कैंट रोड, सदर रोड और स्टेशन रोड पर भीषण जाम लग गया। करीब दो घटे तक यातायात संचालन बाधित रहा।

24 घंटे पहले महापौर की कार का हुआ था ब्रेक फेल

बता दें, बुधवार यानी 7 मार्च की रात मोती महल लॉन में महापौर संयुक्ता भाटिया की सरकारी कार का ब्रेक पैडल तेज आवाज के साथ अचानक टूट गया था। महापौर एक शादी समारोह में शामिल होने जा रहीं थीं। ब्रेक पैडल टूटने से कार अनियंत्रित हो गई, लेकिन चालक ने सूझबूझ से बड़ा हादसा होने से बचा लिया था। चालक ने गाड़ी के एक्सीलरेटर से पैर हटा लिया और हैंड ब्रेक लगाकर गाड़ी बंद कर दी। इसके बाद धीरे-धीरे कार को साइड में लगाकर रोक दिया। महापौर ने चालक निरंकार पाडेय की कुशलता को सराहा वहीं नगर आयुक्त को फोन पर फटकार लगाई। इसके बाद आयुक्त ने फौरन दूसरी कार भेजी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप