लखनऊ, जेएनएन। राजधानी में डेंगू का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। बुधवार को भाजपा महिला मोर्चा की नगर मंत्री रमा शुक्ला (35) सहित दो लोगों की मौत हो गई। वहीं बुधवार को गोमती नगर और इंदिरा नगर सहित शहर के कई इलाकों में डेंगू के 19 मरीज मिले। 

आलमबाग निवासी रमा शुक्ला को आठ दिन पहले बुखार आया था। इसके बाद उनको बलरामपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया। वह अस्पताल में दो दिन भर्ती रहीं। डेंगू की पुष्टि के बाद उनकी हालत और बिगडऩे लगी। फिर परिवारजनों ने उन्होंने पीजीआइ में भर्ती कराया। पांच दिन वेंटिलेटर पर रहने के बाद रमा ने बुधवार तड़के दम तोड़ दिया। वहीं इंदिरा नगर में निजी कोचिंग के शिक्षक अनुपम श्रीवास्तव (43) की फैजाबाद रोड स्थित एक निजी अस्पताल में मौत हो गई। वह भी कई दिनों से डेंगू से लड़ रहे थे।

उधर, डेंगू के लगातार बढ़ते प्रकोप को देखते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के निर्देशन में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जनपद के आठ स्कूलों का दौरा कर डेंगू रोग से बचाव व रोकथाम के बारे में बताया। इस बीच टीम को मलिहाबाद, पारा, हीवेट रोड, गोलागंज, तेलीबाग, आशियाना, डालीगंज, महानगर, गोमती नगर, इंदिरा नगर, संजय गांधी पुरम, न्यू हैदराबाद, बालागंज, चौक, शारदा नगर में 19 मरीज मिले। साथ ही इन क्षेत्रों में फागिंग अभियान संग व्यापक सफाई व्यवस्था कराने के लिए नगर निगम को सूचित किया गया।

लार्वा मिलने पर आठ को नोटिस

फाइंड द वाइट अभियान के तहत बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने अलग-अलग इलाकों का दौरा किया। टीम ने करीब 1787 घरों और स्थानों पर मच्छर जनक की स्थितियों का जायजा लिया। इसमें आठ घरों में मच्छर जनक स्थिति पाए जाने पर आइपीसी की धारा 188 के तहत उनको नोटिस जारी की गई। इसमें आम्रपाली, भवानीगंज, भोला खेड़ा, बाला कदर रोड प्रमुख हैं। वहीं, जिला मलेरिया अधिकारी डीएन शुक्ला व अधीक्षक नगराम डॉ. राजेश सहित टीम के अन्य सदस्यों ने नगराम के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अमवां व मुर्तजापुर क्षेत्र का दौरा किया। टीम ने क्षेत्रीय लोगों को डेंगू रोग से बचाव व रोकथाम के बारे में जागरूक किया। 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस