लखनऊ (जेएनएन)। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने मंत्रिमंडल के सहयोगियों के बीच कार्य बंटवारे के दो दिन बाद पांच मंत्रियों के कार्य में बदलाव किया है। स्वामी प्रसाद मौर्य से नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन विभाग वापस लेकर सुरेश खन्ना को सौंपा है। जबकि हज और वक्फ का जिम्मा लक्ष्मी नारायण को सौंपा गया है, दो दिन पहले के बंटवारे में इस विभाग के मंत्री का जिम्मा किसी को नहीं दिया गया था।
मुख्यमंत्री की ओर से भेजे गए प्रस्ताव को राज्यपाल राम नाईक की मंजूरी मिलने के बाद विभागों में बदलाव की अधिसूचना जारी हो गई है। मुख्यमंत्री ने स्वामी प्रसाद मौर्य के विभागों में से नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन विभाग वापस लेकर उन्हें अपने विभागों में समन्वय विभाग दे दिया है। इससे स्वामी के पास अब श्रम, सेवायोजन के साथ समन्वय विभाग भी हो गया है। स्वामी से वापस लिया गया नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन विभाग मंत्री सुरेश खन्ना को सौंपा गया है। सुरेश खन्ना के पास संसदीय कार्य, नगर विकास, शहरी समग्र विकास भी बना रहेगा। सामान्यत: यह विभाग नगर विकास मंत्री के पास ही रहने की परंपरा रही है।
मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी के पास को पूर्व में आवंटित अल्पसंख्यक कल्याण, दुग्ध विकास, धर्मार्थ कार्य, संस्कृति के अलावा अब मुस्लिम वक्फ एवं हज विभाग का अतिरिक्त कार्य प्रभार सौंपा गया है। राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धरम सिंह सैनी को पूर्व में आवंटित अभाव, सहायता एवं पुनर्वास विभाग अब राज्यमंत्री (एमओएस) के रूप में आवंटित किया गया है। जबकि आयुष विभाग स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री के रूप में रहेगी। राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनिल राजभर को पूर्व में आवंटित खाद्य प्रसंस्करण विभाग अब राज्यमंत्री (एमओएस) के रूप में आवंटित किया गया है। होमगार्ड व प्रांतीय रक्षक दल स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री के रूप में रहेगा।
 

Posted By: Ashish Mishra