हरदोई, जेएनएन। अयोध्या फैसले को लेकर अफवाह फैलाने और सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी पोस्‍ट करने के मामले में हरदोई जिले की पुलिस ने एक शिक्षक समेत दो पर कार्रवाई की है। बताया जा रहा है कि शाहाबाद में शिक्षक ने फेसबुक पर पोस्ट डाली तो बेहटागोकुल क्षेत्र में पुलिस को गलत सूचना दी। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस ने बताया कि जो भी ऐसा करेगा उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई होगी। उधर, लखीमपुर में एक ग्रुप एडमिन पर मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेजा गया है। वहीं, पोस्ट डालने वाले व्यक्ति की पुलिस तलाश कर रही है। 

हरदोई में एक शिक्षक समेत दो अरेस्‍ट 

मामला शाहाबाद के मुहल्ला अल्लाहपुर का है। यहां के चीनी मिल कॉलोनी निवासी अमित श्रीवास्तव एक निजी विद्यालय में शिक्षक हैं। पुलिस के अनुसार, उन्होंने ओवैसी के बयान पर अमित श्रीवास्तव ने आपत्तिजनक पोस्ट की। कुछ लोगों ने उस पर कमेंट भी किए। धीरे धीरे यह मामला फैलने लगा। पुलिस ने संज्ञान लेते हुए अमित श्रीवास्तव को गिरफ्तार कर उसका मोबाइल भी कब्जे में ले लिया। कोतवाल ने बताया कि उनके विरुद्ध एफआइआर दर्ज कर जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें: अयोध्या को लेकर बढ़ी सतर्कता, सोशल मीडिया के 4500 दागियों पर नजर; तीन स्तर पर हो रही निगरानी

वहीं, बेहटागोकुल थानाक्षेत्र में एक युवक को गलत सूचना देना भारी पड़ गया। रविवार को ग्राम झरसा आलम निवासी शाहिद खान पुत्र रईस खान ने जिला प्रशासन व उच्चाधिकारियों को फोन कर सूचना दी कि ग्राम पसिगवां निवासी कुछ लोग गाली-गलौज कर मारपीट रहे हैं। शाहिद ने पुलिस को बताया कि वह लोग जबरन धार्मिक नारे लगाने के लिए बोल रहे हैं।

जानकारी मिलने पर प्रभारी निरीक्षक राकेश चंद्र आनंद पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे तो शाहिद ने अपना फोन स्विच ऑफ कर लिया। काफी तलाशने के बाद पुलिस उसके पास पहुंची और मामले की जांच की तो मामला फर्जी निकला। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि भ्रामक सूचना देने पर शाहिद के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कर उसे जेल भेज दिया गया है।

लखीमपुर में ग्रुप एडमिन को जेल भेजा

अयोध्या मामले में फैसला आने के बाद से एसपी सहित पुलिस के अधिकारी लगातार सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक व भड़काऊ पोस्ट न डालने की बात कह रहे थे। इसी बीच लखीमपुर जिले स्थित पलियाकलां के 'जय बाबा की' नाम के एक वाट्सएप ग्रुप पर भड़काऊ पोस्ट डाल दी गई। इसके बाद सक्रिय हुई पुलिस ने सबसे पहले शनिवार की रात ही ग्रुप एडमिन को पकड़ लिया और रविवार को मेडिकल कराने के बाद ग्रुप एडमिन को जेल भेज दिया है। इंस्पेक्टर विद्याशंकर शुक्ला ने बताया कि मामले में ग्रुप एडमिन विवेक गुप्ता निवासी अहिरान प्रथम को जेल भेजा गया है। जबकि पोस्ट करने वाले व्यक्ति की तलाश की जा रही है।

नीमगांव : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने पर नीमगांव थाने में तीन मोबाइल नंबरों 9616647015, 9696455900 व 8931045554 पर मुकदमा दर्ज किया गया है। इन नंबरों के मोबाइल धारक का पता अभी तक पुलिस नहीं लगा पाई है।

 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस