UP Latest News: लखनऊ, राज्य ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के प्रांतीय चिकित्सा सेवा (PMS) संवर्ग के लेवल टू व उसके ऊपर के 25 और डाक्टरों का तबादला निरस्त (Doctors Transfer Canceled) कर दिया गया है। इन सभी डाक्टरों के स्थानांतरण शासन स्तर से किए गए थे। 30 जून, 2022 को गलत ढंग से किए गए तबादले को लेकर डाक्टर लगातार विरोध कर रहे थे।

आखिरकार शासन स्तर से हुई इस चूक को स्वीकार करते हुए गलत ढंग से किए गए स्थानांतरण को रद करने का सिलसिला जारी है। लखीमपुर खीरी में तैनात रहे डाक्टर रजनीश मोहन गुप्ता का 26 जुलाई, 2022 को निधन हो चुका है। अब जो सूची जारी हुई है, उसमें इनका शाहजहांपुर किया गया तबादला रद किया गया है।

अब तक कुल 90 डाक्टरों का स्थानांतरण निरस्त किया जा चुका है। तमाम गड़बड़ियां उजागर होने के बाद तबादलों पर सवाल खड़े हो गए हैं। जिन 25 डाक्टरों के तबादले निरस्त किए गए हैं, उसमें से छह डाक्टरों के स्थानांतरण आदेश में संशोधन कर उन्हें नए जिले में तैनाती दी गई है।

पहले इनके स्थानांतरण में दांपत्य नीति, सेवानिवृत्त होने में दो वर्ष से कम का समय, दिव्यांग होने व गंभीर रूप से बीमार आदि नियमों का पालन नहीं किया गया। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए गए इन गलत स्थानांतरण को निरस्त किए जाने की राह काफी समय से डाक्टर देख रहे थे।

सुल्तानपुर में तैनात डा. देवव्रत कुमार गुप्ता का संत कबीर नगर किया गया तबादला रद कर दिया गया है। वहीं डा. गनेश कुमार गौरव का गोरखपुर से बलिया, डा. कृष्ण कुमार चहल का रामपुर से बरेली, डा. एसपी सिंह का हाथरस से झांसी, डा. अमित कुमार का अयोध्या से गोरखपुर किया गया स्थानांतरण निरस्त कर दिया गया है।

डा. राकेश कुमार का मुजफ्फरनगर से मेरठ, डा. योगेंद्र सिंह का अमरोहा से हापुड़, डा. मुकेश पहाड़ी का चित्रकूट से मीरजापुर, डा. ब्रजकिशोर प्रसाद का चंदौली से कौशांबी, डा. धर्मेश्वर श्रीवास्तव का आगरा से ललितपुर, डा. सरिता सक्सेना का लखनऊ से बाराबंकी किया गया स्थानांतरण निरस्त कर दिया गया है।

डा. सचिन गुप्ता का मथुरा से मेरठ, डा. संतोष त्रिपाठी का संत कबीर नगर से बहराइच, डा. संजय सिंह का प्रयागराज से कानपुर देहात, डा. श्याम सुंदर का सीतापुर से गोंडा, डा. शक्ति का लखनऊ से कन्नौज और डा. वीडी गौतम का मथुरा से कानपुर किया गया स्थानांतरण निरस्त कर दिया गया है।

वहीं जिन छह डाक्टरों के तबादले में संशोधन किया गया है उनमें डा . राधेश्याम गंगवार का लखीमपुर किया गया तबादला रद कर पीलीभीत भेजा गया है। डा. लाल बाबू को अब अंबेडकर नगर की जगह गोरखपुर, डा. प्रभात कुमार को चंदौली की बजाय कुशीनगर, डा. पवन कुमार कश्यप को मऊ की बजाय मीरजापुर, डा. नरेंद्र कुमार को अमरोहा की बजाय अलीगढ़ और डा. अनवर अंसारी का बिजनौर किया गया तबादला निरस्त कर अब उन्हें गाजियाबाद में तैनाती दी गई है।

सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य रवीन्द्र की ओर से तबादले निरस्त व संशोधित किए जाने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। मालूम हो कि पहले स्वास्थ्य महानिदेशालय ने गड़बड़ी कर लेवल टू और उससे ऊपर के 48 डाक्टरों के तबादले कर दिए। जबकि वह केवल लेवल वन का डाक्टरों का ही स्थानांतरण कर सकता है। अभी बीते बुधवार को शासन स्तर से गड़बड़ी उजागर होने पर 17 डाक्टरों और अब गुरुवार को 25 डाक्टरों के स्थानांतरण निरस्त किए गए।

पीएमएस संवर्ग के कुल 2,200 डाक्टरों के तबादले किए गए थे। उसमें लेवल वन के 350 डाक्टर और बाकी 1,850 डाक्टर लेवल टू और उसके ऊपर के हैं। जिस तरह गड़बड़ियां सामने आ रही हैं, उसे देखते हुए अभी और डाक्टरों के तबादले रद होना तय माना जा रहा है। महानिदेशालय स्तर पर तो पूर्व डीजी हेल्थ डा. वेदब्रत सिंह सहित आठ अधिकारियों के खिलाफ जांच बैठाई गई। अब शासन स्तर पर हुई गड़बड़ियों के जिम्मेदारों पर कार्रवाई होने का इंतजार है।

Edited By: Umesh Tiwari