लखनऊ, जेएनएन।  आखिरकार 133 साल पुराने ऐशबाग-सीतापुर रूट पर बुधवार को नए युग का आगाज हो गया। मीटरगेज (छोटी लाइन) ट्रेनों की छुकछुक की जगह तेज रफ्तार ब्रॉडगेज (बड़ी लाइन) की ट्रेन हवा से बात करती नजर आई। शुरुआत एक स्पेशल पैसेंजर ट्रेन से हुई। आम यात्रियों की इस ट्रेन में सफर कर सैकड़ों यात्री इसके साक्षी बने। खुद रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा खैराबाद (अवध) में रूट का लोकार्पण किया। इसके बाद ट्रेन में बैठकर रेल राज्य मंत्री आला अफसराें व सांसद गण के साथ रवाना हो गए।

सीतापुर होकर गुजरेंगी गोरखपुर से लखनऊ की ट्रेन : मनोज सिन्हा  
रेल व संचार राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि अमान परिवर्तन होने से यात्रियों को बहुत सुविधाएं मिलेंगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पूरे देश में रेल सेवाओं में सुधार किया गया है। जो ट्रेनें गोरखपुर से लखनऊ होकर निकलती थी, अब वो सीधे सीतापुर होकर गुजरेंगी। ट्रेनें भी बढ़ेंगी। यहां के यात्रियों को बेहतर रेल नेटवर्क का फायदा मिलेगा। शीघ्र ही मैलानी तक भी अमान परिवर्तन कार्य पूर्ण कर रेल संचालन शुरू किया जाएगा। उन्होंने केंद्र की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं को गिनाते हुए इसका श्रेय प्रधानमंत्री को दिया।

सप्ताह में तीन दिन लखनऊ से लोकमान्य तिलक टर्मिनल के बीच चलने वाली 12107/08 लखनऊ जंक्शन-एलटीटी एक्सप्रेस और सप्ताह में एक दिन संचालित होने वाली 12103/04 लखनऊ पुणे एक्सप्रेस का विस्तार सीतापुर तक होगा। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने दोनों ही ट्रेनों के विस्तार को सीतापुर तक करने की घोषणा कर दी है। इसके बाद उन्होंने हरी झंडी दिखाकर स्पेशल पैसेंजर ट्रेन को रवाना किया। इसके बाद ट्रेन में ही यात्रियों के साथ बैठकर रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा, आला अफसराें  व सांसद गण रवाना हो गए।

स्पेशल ट्रेन से ही पहले दिन 648 यात्रियों ने अपना टिकट खरीदकर पहली यात्रा को यादगार बना दिया। इससे रेलवे ने 9475 रुपये की आमदनी भी की। सबसे अधिक 150 टिकट सीतापुर में बिके। जबकि खैराबाद अवध से 111, कमलापुर हाल्ट से 60, सिधौली से 111, मनवा हाल्ट के 80, अटरिया से 42 और बख्शी का तालाब से 94 टिकट यात्रियों ने खरीदा। खैराबाद अवध में एक घंटे तक लोग लंबी लाइन में जूझते रहे।

सीतापुर-ऐशबाग का लोकार्पण
रेल राज्यमंत्री सुबह जेट एयरवेज के विमान से सुबह 10:40 बजे लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंचे। यहां से सड़क मार्ग से वह सीतापुर जिले के खैराबाद (अवध) स्टेशन आए। इसके बाद सीतापुर से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सीतापुर-ऐशबाग नए ब्रॉडगेज रूट का लोकार्पण किया। इसी के साथ स्पेशल ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।

इंजन दौड़ाकर हुआ ट्रायल
उधर, पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मंडल प्रशासन ने इस रूट पर ट्रेन संचालन शुरू होने को लेकर मंगलवार देर शाम तक तैयारियां की। रेलवे ने संरक्षा सहित कई बिन्दुओं पर अपनी तैयारियों को परखने के लिए मंगलवार को इस रूट पर एक इंजन को चलाया था। इस रूट पर ट्रेन का स्पीड ट्रायल भी किया गया था।

उठा सकेंगे सफर का मजा 
बख्शी का तालाब, मोहिबुल्लापुर और सिधौली स्टेशनों पर जनरल टिकट की बिक्री के लिए अनारक्षित टिकट सिस्टम (यूटीएस) को परखा गया। बुधवार को स्पेशल ट्रेन में सफर के लिए यात्रियों को टिकटों की बिक्री भी की जाएगी।

13 मई को थमा था सफर
ऐशबाग से सीतापुर के बीच 13 मई 2016 को आखिरी ट्रेन नैनीताल एक्सप्रेस ने डाउन में अपना सफर तय किया था। यह ट्रेन टनकपुर से वापस आयी थी। तब से यह रूट बंद था। ऐशबाग-सीतापुर सेक्शन पर 88.25 किलोमीटर लंबे रूट का अमान परिवर्तन 374 करोड़ रुपये से किया गया है। इस रूट पर 41 क्रासिंग, छह सीमित ऊंचाई वाले सबवे, आठ रोड डायवर्जन और सात स्टेशनों पर पैदल पुलों का निर्माण किया गया है। 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस