लखनऊ, जेएनएन। दुबग्गा पॉवर हाउस के पास एक अनियंत्रित ट्रैक्टर ट्रॉली पलट गई। ट्रैक्टर ट्रॉली पर करीब 40 लोग सवार थे, जिनमें 30 घायल हो गए। ट्रॉली के नीचे दबे घायलों को किसी तरह बाहर निकाला गया और उन्हें पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया। सभी पारा के सदरौना गांव के रहने वाले हैं, जो घैला पुल मूर्ति विसर्जन करने गए थे। गंभीर रूप से घायलों को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

यह है मामला 

पारा के सदरौना गांव के ग्रामीण तीन ट्रैक्टर ट्रॉली से करीब 350 लोग मूर्ति विसर्जन कर वापस लौट रहे थे। इसी बीच गुरुवार शाम को एक ट्रैक्टर ट्रॉली अनियंत्रित होकर पलट गई। इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार मिश्रा के मुताबिक हादसे में करीब 30 ग्रामीण ट्राली के नीचे दब गए थे। हादसे से वहां मौजूद लोगों में अफरातफरी मच गई। आननफानन लोगों ने ग्रामीणों को ट्रॉली के नीचे से निकाला और निजी अस्पताल में भर्ती कराया। उधर, दुर्घटना के बाद वहां जाम लग गया। पुलिस ने क्रेन मंगाकर ट्रॉली को सड़क से किनारे करवाया, जिसके बाद आवागमन शुरू हो सका। निजी अस्पताल से गंभीर रूप से घायलों को ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया गया। ग्रामीण चंद्रपाल ने बताया कि गांव में हनुमान मंदिर के पास हर साल की तरह बुधवार को माता जी का जागरण हुआ था। गुरुवार को महिलाएं, बच्चे व अन्य लोग गोमती नदी घैला पुल के पास मूर्ति विसर्जन कर वापस जा रहे थे, उसी दौरान हादसा हो गया।

नाबालिग चला रहा था ट्रैक्टर

लोगों ने बताया कि ट्रैक्टर ट्रॉली सदरौना गांव के ही मिश्री लाल की है, जिसे उनका नाबालिग बेटा चला रहा था। हादसे में वह भी गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसका ट्रॉमा सेंटर में इलाज चल रहा है।

यह लोग हुए घायल 

हादसे में निधि, नैंसी, सोनी, सीमा, मालती, मुस्कान, तनु, शालिनी, मालती, सुमन, रेशमा, कुंती, नीरज, कोमल, सुशील, सुनीता, रामरती, पिंकी, आशनी, कुसुम, ममता और दीपेश समेत अन्य शामिल हैं। 

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप