लखनऊ, जागरण संवाददाता। देशभर के टूर आपरेटर्स प्रदेश के पर्यटन को पंख लगाएंगे। पर्यटन स्थलों की खूबियां देश-विदेश के पर्यटकों तक पहुंचाने का जिम्मा इन्हीं को मिलेगा। करीब 26 साल बाद दिसंबर में इंडियन एसोसिएशन आफ टूर आपरेटर्स (आइएटीओ) का सम्मेलन लखनऊ में होने जा रहा है। पर्यटन विभाग ट्रैवल मार्ट की तैयारियों को अंतिम रूप दे रहा है।

प्रदेश में अयोध्या में दीपावली व काशी में देव दीपावली के साथ प्राकृतिक, धार्मिक, ऐतिहासिक स्थलों का विकास हुआ है। चिन्हित स्थलों पर पर्यटकों के लिए आधारभूत सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं। आइआइएम के युवाओं के साथ ही अब इस मुहिम में टूर आपरेटर्स को भी जोड़ा जा रहा है। नवंबर में देशभर के टूर आपरेटर्स का दिल्ली में कार्यक्रम हुआ, इसमें आपरेटर्स को न्यौता देने पर्यटन महानिदेशक मुकेश मेश्राम पहुंचे।

लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान व होटल सेंट्रम में आइएटीओ का सम्मेलन 16, 17 व 18 दिसंबर को होना प्रस्तावित है, विभाग ने अभी तारीखों का एलान नहीं किया है। आइएटीओ अध्यक्ष राजीव मेहरा कहते हैं कि संघ का सम्मेलन यूपी में इसके पहले 1996 में हुआ था। टूर आपरेटर्स सदस्यों के लिए ये अच्छा अवसर है, क्योंकि प्रदेश में आधारभूत ढांचे का तेजी से विकास हुआ है।

लखनऊ सहित कई शहरों में नए होटल बने व सुविधाएं बढ़ीं हैं। इस समय अयोध्या में बन रहा राममंदिर सभी के आकर्षण का केंद्र है, जहां देश व विदेश के पर्यटक पहुंचना चाहते हैं। सम्मेलन में करीब 900 टूर आपरेटर्स प्रतिभाग कर सकते हैं। महानिदेशक मेश्राम ने बताया कि आयोजन से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

क्या करते हैं टूर आपरेटर्स 

टूर आपरेटर पर्यटन स्थल का आकर्षक पैकेज तैयार करते हैं, उन्हें ट्रैवल एजेंट्स के माध्यम से या सीधे ही लोगों तक पहुंचाते हैं। इसमें ध्यान रखा जाता है कि जो भी पैकेज तैयार हो, वह इतना आकर्षक हो कि पर्यटक ज्यादा स्थलों का भ्रमण कर सकें व उनकी जेब पर भी ज्यादा भार न पड़े।

Edited By: Anurag Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट