लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में सोमवार को आंधी-तूफान, बिजली गिरने और डूबने से 39 लोगों की मौत हो गई है। आपदाओं में तीन लोग घायल भी हुए हैं जबकि तीन पशुओं की भी मौत हुई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनहानि, पशुहानि एवं मकान क्षति के दृष्टिगत राहत कार्य पूरी सक्रियता से संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

राहत आयुक्त कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार आंधी-तूफान से अमेठी, चित्रकूट, अयोध्या, फीरोजाबाद, मुजफ्फरनगर और जौनपुर में एक-एक, वाराणसी, बाराबंकी, अंबेडकरनगर, बलिया व गोंडा में दो-दो तथा कौशांबी व सीतापुर में तीन-तीन लोगों ने जान गंवाई है।

वहीं बिजली गिरने से अलीगढ़, शाहजहांपुर, बांदा में एक-एक और लखीमपुर खीरी में दो लोगों की मौत हुई है। इसी प्रकार डूबने से गाजीपुर व कौशांबी में एक-एक, प्रतापगढ़ में दो तथा आगरा व वाराणसी में चार-चार लोगों की मृत्यु हुई है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में आंधी-बारिश से जान गंवाने वाले लोगों के स्वजन को चार-चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता के निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने आंधी-बारिश से हुई जनहानि पर गहरा शोक जताया और शोक संतृप्त स्वजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि राहत कार्यों में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर लोगों को बदल रहे मौसम को लेकर सचेत भी किया। उन्होंने लिखा कि मौसम बदल रहा है। वर्षा, आंधी-तूफान व आकाशीय बिजली के कारण दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं हो रही हैं। ऐसे में आप सभी अपना और अपने स्वजनों का ध्यान रखें। बिल्कुल भी परेशान न हों, आपकी सरकार हर परिस्थिति में आपके साथ है।

Edited By: Umesh Tiwari