लखनऊ (जेएनएन)। शाहजहांपुर की बिटिया की न्याय के लिए जंग का सफर काफी लंबा रहा। वह बिना डरे अकेले संघर्ष करती आगे बढ़़ी। इसमें 07 अगस्त 2013 को पीडि़ता के पिता के मोबाइल पर मध्यप्रदेश स्थित आसाराम गुरुकुल आश्रम से काल आने से शुरू होकर और आज राजस्थान की अदालत से सजा सुनाए जाने के फैसले तक का सफरनामा है।  अब तक की पूरी लडा़ई में कुल 04 साल 08 महीने और 06 दिन लगे।

देखें तारीख दर तारीख

  • 07 अगस्त 2013 को पीडि़ता के पिता के मोबाइल पर मध्यप्रदेश स्थित आसाराम गुरुकुल आश्रम से वार्डन शिल्पी का फोन आया। पीडि़ता पर भूत प्रेत का साया बताकर इलाज के लिए जोधपुर के मणाई आश्रम में लाने का कहा। आसाराम के पास लेकर जाने का दबाव बनाया। 
  • 16 अगस्त 2013 को पीडि़त परिवार जोधपुर आश्रम से शाहजहांपुर लौटा, जहां पर बहादुर बेटी ने परिजनों को आपबीती बताई। 
  • 18 अगस्त को पीडि़त परिजन आसाराम से मिलने दिल्ली रवाना हुआ।
  • 19 अगस्त को दिल्ली में आसाराम से मिलने से रोक दिया। सूचना पर आसाराम दिल्ली से दूर हो गया। 
  • आसाराम के न मिलने पर पीडि़त परिवार ने दिल्ली के थाने में रात में ही एफआइआर के लिए तहरीर दी। 
  • 20 अगस्त 2013 को धारा 342, 376, 354ए, 506, 509 पॉक्सो एक्ट समेत कई धाराओं में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। इसके बाद मेडिकल परीक्षण के बाद पीडि़ता के  मजिस्ट्रेट के समक्ष कलम बंद बयान हुए। 
  • 21 अगस्त को पूरा मामला जोधपुर महिला थाना स्थानांतरित हुआ। 
  • 01 सितंबर 2013 को रात एक बजे पुलिस ने आसाराम को इंदौर आश्रम से गिरफ्तार किया। 
  • 06 नवंबर 2013 को पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की। 
  • 08 नवंबर 2013 को हाईकोर्ट ने केस में डे टु डे सुनवाई का आदेश जारी किया। 
  • 27 मार्च 2018 से पीडि़त पक्ष की फाइनल दलील  

हत्या व हमला के प्रमुख मामले 

  • 23 मई 2014 वैद्य अमृत प्रजापति पर हमला, मौत। 
  • 17 सितंबर 2014 शाहजहांपुर के पत्रकार की गला काटकर हत्या का प्रयास।  -11 जनवरी 2015 को मुजफ्फरनगर निवासी गवाह अखिल गुप्ता की गोली मारकर हत्या।  
  • 13 फरवरी 2015 मुख्य गवाह राहुल सचान पर जोधपुर कोर्ट के बाहर हमला, 25 नवबर 2015 से लापता। 
  • 13 मई 2015 को मुख्य गवाह महेंद्र चावला पानीपत निवासी की गोली मारकर हत्या का प्रयास। 
  • 10 जुलाई 2015 गवाह कृपाल ङ्क्षसह की शाहजहांपुर में गोली मारकर हत्या। 

Posted By: Nawal Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप