अमेठी, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में पिछले दो दिनों से हो रही लगातार बरसात ने तबाही मचा दी है। शुक्रवार की सुबह जिले के कई विकास खंडों में एक दर्जन भर मकान ढह गये। भादर विकास खंड छीड़ा गांव में बारिश के चलते एक कच्चा मकान गिर गया। घटना में पति-पत्नी की मौत हो गई, जबकि बेटा और उसकी दादी बाल-बाल बची। दूसरी तरफ, जगतपुर गांव मजरे चतुर्भुजपुर में एक घर की कच्ची दीवार ढहने से 65 वर्षीय युवक की मौत हो गई। 

पति-पत्नी की मौत, बाल-बाल बचा बेट-दादी 

मामला भादर विकास खंड छीड़ा गांव का है। शुक्रवार की भोर लगभग पांच बजे यहां स्थित एक कच्चा मकान गिर गया। मकान के सामने लगे टीन शेड के नीचे धर्मराज वर्मा (45)व उसकी पत्नी गुड्डा देवी (42) सो रहे थे वह मलबे की चपेट में आने से दोनों की मौके पर मौत हो गई, जबकि घर के सामने बने घास फूस के छप्पर के नीचे उसका छोटा पुत्र रंजीत वर्मा (12) अपनी दादी रामकली के साथ सो रहा था दोनों बाल-बाल बच गए। मकान गिरने के बाद आवाज सुनकर आसपास के लोग व परिजन उठे हल्ला गुहार लगाया। हल्ला गुहार सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे। लगातार हो रही बारिश के चलते किसी तरह मलबा हटाया दोनों के शव को बाहर निकाल स्थानीय पुलिस को सूचना दिया। ग्राम प्रधान जगदीश यादव भी मौके पर पहुंचे पुलिस ने दोनों शव का पंचनामा कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। 

 

दूसरी घटना, अमेठी कोतवाली क्षेत्र के जगतपुर गांव मजरे चतुर्भुजपुर में हुई। यहां के निवासी राम आसरे (65) के घर की कच्ची दीवार ढह गई, मलबे की चपेट में आने से उनकी मौत हो गई। 

पीडि़त परिवार को आर्थिक सहायता 

अपर जिलाधिकारी वंदिता श्रीवास्तव ने बताया कि मौके पर एसडीएम अमेठी व राजस्व कर्मियों को भेज कर रिपोर्ट मांगी गई है। 24 घंटे के भीतर पीडि़त परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

 

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप