श्रावस्ती, जेएनएन। उत्‍तर प्रदेश के श्रावस्ती में मंगलवार शाम दर्दनाक हादसे में दंपती समेत तीन लोगों की मौत हो गई। किसी अज्ञात वाहन ने पत्नी व बहन के साथ घर वापस जा रहे बाइक सवार युवक को जोरदार टक्कर मार दी। जिसमें तीनों की मौत हो गई। वहीं, गोद में बैठी एक साल की बच्‍ची टक्‍कर से लगभग तीन मीटर दूर उछलकर गिरी और  बाल-बाल बच गई। इसे देखकर ये कहावत 'जाको राखे साईंया मार सके न कोय...'सच होती नजर आई। दुर्घटना के बाद चालक वाहन लेकर फरार हो गया। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्‍टमॉर्टम के लिए शव को भेजा। 

ये है पूरा मामला 

हादसा सिरसिया कोतवाली भिनगा के गुलरा गेस्ट हाउस के पास हुआ। दरअसल, सिसवा गांव निवासी रामचरन (22) पुत्र कंधई लाल अपनी पत्नी पुष्पा देवी (20) व बहन सुशीला (20) के साथ बाइक से सोमवार को अपनी ससुराल भिनगा कोतवाली क्षेत्र के राजापुर गए थे। मंगलवार शाम बाइक से पति-पत्नी, बहन व एक मासूम के साथ वापस घर लौट रहे थे। इसी दौरान भिनगा जंगल के गुलरा गेस्ट हाउस के पास सामने से आ रहे किसी वाहन ने अनियंत्रित होकर टक्कर मार दिया, जिससे घटनास्थल पर ही दंपती समेत तीनों लोगों की मौत हो गई। एक वर्षीय मासूम बच्ची बाल-बाल बच गई। 

 

चालक व वाहन के तलाश में पुलिस 

सीओ हौसला प्रसाद ने बताया कि अज्ञात वाहन की टक्‍कर से दंपती समेत तीन लोगों की मौत हो गई है। दुर्घटना के बाद चालक वाहन लेकर फरार हो गया है। चालक व वाहन का पता लगाया जा रहा है। दुर्घटना की सूचना मृतक के परिवारजनों को दे दी गई है।  

जाको राखे साईंया मार सके न कोय...

जाको राखे साईंया मार सके न कोय... कहावत मंगलवार शाम को चरितार्थ हो गई। भिनगा जंगल में स्थित गुलरा गेस्ट हाउस के पास अज्ञात वाहन की ठोकर से बाइक सवार पति-पत्नी समेत तीन लोगों की दर्दनाक मौत घटनास्थल पर ही हो गई। वहीं बाइक पर मां की गोद में बैठी एक वर्षीय मासूम बच्ची सुरक्षित बच गई। घटनास्थल पर पहुंचा हर कोई यही कह रहा था कि जाको राखे साईंया मार सके न कोय...।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021