जागरण संवाददाता, लखनऊ: इन्वेस्टर्स समिट से पहले शहर में बाइक टैक्सी दौड़ने को तैयार हैं। मंगलवार को तीन बाइक टैक्सी के परमिट ट्रांसपोर्ट नगर स्थित आरटीओ कार्यालय से जारी कर दिये गये हैं। मार्गो पर दौड़ने वाली इन बाइक टैक्सी का आज फिटनेस भी किया गया। परमिट की औपचारिकता के बाद इनका संचालन शहर में शुरू हो जाएगा। यह जानकारी सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी राघवेंद्र सिंह ने दी।

इन बाइक टैक्सी के संचालन के लिए डेढ़ दर्जन शर्तो को बाइक मालिकों को बता दिया गया है। इसके तहत बाइक टैक्सी के आगे ठेका वाहन लिखाना होगा। परमिट धारक का नाम, पता व फोन नंबर गाड़ी की बॉडी पर अंकित होगा। बाइक टैक्सी के चालक का आचरण एवं स्थायी पते का सत्यापन होना जरूरी है। वाहन में फ‌र्स्ट एड बाक्स की व्यवस्था रहेगी। खतरनाक वस्तुओं को वाहन से नहीं ले जा जाएगा। वाहन की पार्किंग के लिए पर्याप्त स्थान होने के अलावा उसे बस स्टेशन पर पार्क नहीं किया जा सकता है। शिकायत पुस्तिका बाइक टैक्सी में रहेगी। वाहन चालक का फोटोयुक्त नाम, पता व फोन नंबर गाड़ी पर प्रदर्शित किया जाएगा। वाहन स्वामी महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के लिए उत्तरदायी होगा। बाइक टैक्सी के रूप में नये या फिर अधिकतम दो वर्ष पुराने वाहन को संचालन की अनुमति होगी। वाहन का बीमा, चालक और यात्री को हेल्मेट लगाना अनिवार्य होगा। यही नहीं छह माह में वाहन में सीएनजी किट लगवाना अनिवार्य होगा।

8.70 रुपये से होगी किराये की शुरुआत

एआरटीओ प्रशासन के मुताबिक बाइक टैक्सी पर किराये के रूप में आठ रुपया सत्तर पैसा किराया प्रथम किमी. के लिए यात्री को देना होगा। उसके बाद हर पांच सौ मीटर या उसके किसी भाग के लिए चार रुपया दस पैसा किराये के रूप में सफर करने वाले को चुकाना होगा। दूरी के हिसाब से किराया बढ़ता जाएगा।

Posted By: Jagran