रायबरेली, जेएनएन। महराजगंज कोतवाली क्षेत्र के पूरे रानी मजरे अतरेहटा गांव में किराए पर रहने वाले एक शख्स के पास से नकली नोट बनाने की मशीन पुलिस ने जब्त की है। तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है। इसके तार लखनऊ से जुड़े होने की बात भी सामने आ रही है। 

पूरे रानी गांव में किराए के मकान में किन्नर कल्पना पडऱई निवासी रामकृपाल के साथ रहती है। शुक्रवार को राम कृपाल की जेब से 100 का नोट गिरा, जो नकली था। इस बाबत जब कल्पना ने सवाल किए तो राम कृपाल उग्र हो गया और उसे मारने -पीटने लगा। कल्पना ने किसी तरह खुद को बचाया और उसे कमरे में बंद कर दिया।

इसके बाद उसने 100 नंबर पर सूचना दे दी। पहले यूपी-100 की पीआरवी आई और मामला बड़ा देख कोतवाली पुलिस को अवगत कराया, जिसके बाद कोतवाल लालचंद्र सोनकर वहां पहुंचे और राम कृपाल को हिरासत में ले लिया। उसकी निशानदेही पर नकली नोट छापने की मशीन, ङ्क्षप्रटर, लैपटॉप आदि बरामद किया गया। इसी मामले में अमावां निवासी रियाज और उसके साथी को भी पुलिस ने पकड़ा है।

इन तीनों से पूछताछ की जा रही है। कल्पना को शनिवार को भी कोतवाली बुलाकर जानकारी ली गई। कोतवाल लालचंद्र आरोपित राम कृपाल को लेकर लखनऊ गए और काफी देर तक छानबीन करते रहे। देर शाम वह कोतवाली लौटे। जांच के दौरान उन्हें क्या मिला, इसकी जानकारी अभी सार्वजनिक नहीं की गई है, मगर यह स्पष्ट हो गया है कि इस अवैध कारोबार के तार लखनऊ से भी जुड़े हैं।

क्षेत्राधिकारी महराजगंज विनीत स‍िंह ने बताया क‍ि नकली नोट छापने की मशीन और कुछ नोट मिले हैं। जांच के सिलसिले में टीम लखनऊ गई थी। जल्द ही पूरे प्रकरण को सबके सामने लाया जाएगा।

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस