लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के राजभवन को बम से उड़ाने की धमकी मिली है। लखनऊ में उत्तर प्रदेश के राजभवन को यह धमकी भरा पत्र झारखंड के नक्सली संगठन टीएसपीसी Naxalite organization TSPC की ओर से मिला है। 

राजभवन को डायनामाइट से उड़ाने का धमकी भरा पत्र आने के बाद पुलिस-प्रशासन सक्रिय हो गया है। यह धमकी झारखंड के उग्रवादी संगठन तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी (टीएसपीसी) की ओर से दी गई है। पत्र मंगलवार को ही डाक से राजभवन पहुंचा था। पत्र में 10 दिनों के अंदर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के राजभवन छोड़कर न जाने पर राजभवन को डायनामाइट से उड़ा देने की धमकी दी गई है। प्रकरण सामने आने के बाद आइजी सुरक्षा ने राजभवन का भ्रमण कर सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा भी लिया। मामले को लेकर देर रात हजरतगंज कोतवाली में अज्ञात के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली गई है।

राज्यपाल के अपर मुख्य सचिव हेमंत राव ने पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी से संपर्क किया और पत्र की जानकारी दी। राव ने बताया कि प्रकरण की जांच के लिए राजभवन ने संबंधित पत्र गृह विभाग को भेज दिया है। अपर मुख्य सचिव गृह का कहना है कि उन्होंने डीजीपी ओपी सिंह, डीजी इंटेलीजेंस भवेश सिंह व एडीजी सुरक्षा मुख्यालय दीपेश जुनेजा को पत्र भेज स्थिति का पूर्ण आंकलन करते हुए प्रारंभिक जांच के निर्देश दिए गए हैं।

राजभवन की सुरक्षा-व्यवस्था की समीक्षा करते हुए प्रकरण की जांच रिपोर्ट बुधवार शाम तक देने को कहा है। राजभवन की सुरक्षा के लिए आवश्यकतानुसार उपाय करने के भी निर्देश दिए गए हैैं। राजभवन की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों को अतिरिक्त मुस्तैदी बरतने व हर संदिग्ध पर कड़ी नजर रखने की हिदायत भी दी गई है। एडीजी कानून-व्यवस्था पीवी रामाशास्त्री ने बताया कि पूरे मामले की गहनता से जांच कराई जा रही है। लखनऊ पुलिस को भी सतर्क किया गया है। प्रकरण में हजरतगंज कोतवाली में एफआइआर दर्ज कराकर आगे की छानबीन की जाएगी।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप