लखनऊ(जागरण संवाददाता)। राजधानी की वीआइपी इलाका मानी जाने वाली डालीबाग ऑफीसर्स कॉलोनी में मंगलवार को दिनदहाड़े चोरों ने कृषि विभाग की डिप्टी डायरेक्टर के मकान में साफ कर दिया। चोर नकदी समेत करीब 40 लाख के जेवर ले उड़े। दोपहर डेढ़ बजे जब शोभा घर पहुंचीं तो मुख्य गेट का ताला टूटा पड़ा देखा। हजरतगंज पुलिस ने मामला दर्ज कर सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिग खंगाल रही है।

ये है पूरा मामला:

मामला डालीबाग वीआइपी गेस्ट हाउस के पास ऑफीसर्स कॉलोनी में द्वितीय तल पर स्थित मकान संख्या 3/10 का है। यहां कृषि विभाग में डिप्टी डायरेक्टर साख्यिकीय शोभा रानी श्रीवास्तव रहती हैं। उनके पति रमेश चंद्र श्रीवास्तव बीकेटी क्षेत्र के रसूलपुर स्थित राजकीय हाईस्कूल में प्रधानाचार्य हैं। बेटा मनीष बस्ती स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में पीओ है। शोभा ने बताया कि मेरे पति सुबह सात बजे ड्यूटी चले गए थे। मैं करीब पौने 10 बजे ऑफिस के लिए चली गई। लंच करने के लिए करीब डेढ़ बजे घर पहुंची। मुख्य गेट और अंदर प्रवेश द्वार का ताला टूटा पड़ा था। घर में दोनों अलमारियों के ताल, बक्से और ब्रीफकेस के ताले टूटे पड़े थे।

ज्वैलरी समेत 40 लाख गायब:

शोभा ने बताया कि चोर करीब 30 हजार की नकदी, 20-25 सोने की अंगूठी, सोने की चेन, हार, कंगन समेत करीब 40 लाख रुपये कीमत की ज्वैलरी समेट ले गए। सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्र, दारोगा धर्मेद्र, फोरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। सीओ का कहना है कि घर में चालक और काम करने के लिए आने वाले दो नौकरानियों से पूछताछ की जाएगी।

रेकी कर अंजाम दी गई वारदात मुख्य रोड से आए थे चोर:

रमेश चंद्र ने बताया कि चोरों ने पूरी रेकी की है, क्योंकि जिस वक्त चोरी हुई है, घर पर कोई नहीं रहता। शोभा रानी ने बताया कि डाग स्क्वायड गन्ना संस्थान के पास स्थित मेंटीनेंस आफिस गया था। पुलिस का दावा है कि चोर मुख्य मार्ग से आए थे। वहीं पर गाड़ी खड़ी करके पैदल आए और चले गए।

24 घटे पहले एक चोर को पीटा गया था कॉलोनी में:

तृतीय तल पर रहने वाले बलरामपुर अस्पताल के डॉ. सीपी सिंह ने बताया कि सोमवार की शाम पड़ोस स्थित एक मकान के बाहर एक कार खड़ी थी। एक युवक कार से पेट्रोल चुरा रहा था। आस पड़ोस के लोगों ने उसे दबोच लिया और जमकर पीटा था। लोगों ने पुलिस पर गश्त न करने का आरोप लगाया है।

Posted By: Jagran