लखनऊ, जेएनएन। इबादतों का महीना रमजान करीब है। जल्द ही शहर में रमजान की रौनक बिखर जाएगी। पांच मई को रमजान का चांद देखा जाएगा। ऐशबाग ईदगाह व हुसैनाबाद के ऐतिहासिक सतखंडा में चांद के दीदार के लिए विशेष इंतजाम रहेगा। 29 का चांद होने पर छह मई को पहली रमजान होगी। नहीं तो 30 के चांद के मुताबिक सात मई को पहला रोजा होगा। चांद देखने की रात से ही मस्जिदों में तरावीह की नमाज शुरू हो जाएगी। 

रमजान की तैयारियों को लेकर मंगलवार को ऐशबाग ईदगाह में इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया फरंगी महल व जिला प्रशासन के अधिकारियों के बीच बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता कर रहे ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने कहा कि रमजान के पवित्र महीने में नक्खास, अकबरी गेट, बिल्लौचपुरा, मौलवीगंज, गोलागंज, अमीनाबाद, कसाई बाड़ा, मछली मुहाल व हुसैनाबाद सहित अन्य मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में साफ-सफाई की जाए। साथ ही इफ्तार, तरावीह व सहरी के समय बिजली व पानी की आपूर्ति सुनिश्चित हो। इसके अलावा यातायात व्यवस्था को सही किया जाए।

मौलाना ने इबादत के इस पाक महीने में शहर की अमन व शांति के खिलवाड़ करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने की अपील की। इस पर एडीएम पश्चिम संतोष कुमार वैश्य ने संबंधित विभागों के अधिकारियों से कहा कि रमजान की तैयारियां समय से पहले पूरी की जाए। एसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने कहा कि पुलिस विभाग अमन-चैन कायम रखने का पूरा प्रयास करेगा। अराजकतत्वों के साथ सख्ती से निपटा जाएगा। नगर आयुक्त डॉ. इंद्रमणि त्रिपाठी ने कहा कि नगर निगम की तरफ से हर प्रकार की सहूलियत दी जाएगी। बैठक में सिविल डिफेंस के चीफ वार्डेन अमर नाथ मिश्रा व मौलाना नईमुर्रहमान सिद्दीकी सहित कई अधिकारी शामिल रहे। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस