रायबरेली, जागरण संवाददाता। धमाकों से यूपी को दहलाने की साजिश में ऊंचाहर से पकड़े गए जमील की संलिप्तता भी उजागर हुई। इसके साथी मूलचंद्र का आतंकी कनेक्शन मंगलवार को ही उजागर हो चुका था। मुंबई अंडरवर्ल्ड के तार यहां से जुड़े होने की सूचना से खुफिया संगठनाें व पुलिस के कान खड़े हो गए। हालांकि दोनों के परिवारजन निर्दाेष होने की बात कह रहे।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक अंडरवर्ल्ड डान दाऊद का भाई अनीस पाकिस्तान में बैठकर इस आतंकी माड्यूल को संचालित कर रहा था। दिल्ली स्पेशल सेल और यूपी एटीएस अब तक नौ आतंकियों को गिरफ्तार कर चुकी है। इनमें यहां के ऊंचाहार कोतवाली के अकोढ़िया निवासी मूलचंद्र उर्फ साजू उर्फ लाला और जमील का नाम भी शामिल है। मूलचंद्र गांव में ही रहकर खेती-बाड़ी करता था। कुछ दिन उसने प्रधान के साथ रहकर मनरेगा में मुंशी का काम भी किया। गांव का ही जमील जो मुंबई में बस गया था, लगभग दो साल पहले वापस लौट आया। तब से दोनों की यारी हो गई थी। गांव वाले बताते हैं कि दोनों गांजा और दारू के लती थे। वे दिनभर साथ घूमते और नशाखोरी करते रहते थे। दोनों के नाम आतंकवाद से जुड़े होने की बात सामने आने के बाद गांव ही नहीं, पूरे जिले के लोग हैरत में पड़ गए।

गलत संगत पर मुंबई से भगाया : ग्रामीणों ने बताया कि जमील छह भाई और तीन बहन हैं। उसके पिता साबिर अली मुंबई मेंं बर्तन का व्यवसाय करते हैं। जमील और उसके भाई वहीं रहते थे, गांव में सिर्फ बहनें थीं। गलत संगत होने पर दो साल पहले पिता ने जमील को गांव भेज दिया था। तब से वह यहीं रहता था। कभी-कभी उसका मुंबई आना-जाना भी होता रहता था। एसपी श्लोक कुमार का कहना है कि मंगलवार को उक्त दोनों को एटीएस ने हिरासत में लिया था। इनके आतंकी माड्यूल होने की बात सामने आई है। मामले की जांच दिल्ली स्पेशल सेल और यूपीएटीएस कर रही है।

जमील, अनीस और मूलचंद : बुधवार को जब जमील के भी आतंकी माड्यूल में शामिल होने के बात पता चली तो अकोढ़िया में नई-नई बातें शुरू हो गईं। गांव वाले ये कहते सुने गए कि मूलचंद सीधे अनीस इब्राहिम के संपर्क में कैसे आ जाएगा। वो तो अधिकतर गांव में रहता था। कुछ दिनों से उसका लखनऊ और प्रयागराज आना-जाना हुआ। हो न हो इसमें जमील की भूमिका जरूर होगी, क्योंकि वो मुंबई में रहा है। हालांकि ये सब कही-सुनी बाते हैं, इनकी पुष्टि नहीं हुई है।

निर्दोष हैं दोनों : मूलचंद की पत्नी सुधा और जमील के पिता साबिर अली ने दोनों को निर्दोष बताया है। इनका कहना है कि अगर दोनों को नहीं छोड़ा गया तो वे मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से न्याय की गुहार लगाएंगे।

Edited By: Anurag Gupta