लखनऊ, जेेेएनएन। कारपोरेट सेक्टर की देश की पहली ट्रेन तेजस एक्सप्रेस 14 फरवरी से दोबारा दौड़ेगी। रेलवे बोर्ड ने फिलहाल फिजिबिलिटी रिपोर्ट में तेजस को फैजाबाद तक चलाने में आ रही बाधाओं को देखते हुए इसे लखनऊ तक चलाने का आदेश दिया है। हालांकि यह ट्रेन अब सप्ताह में छह की जगह चार दिन चलेगी। ट्रेन का किराया वीकेंड में बढ़ेगा । वीकेंड के किराए की व्यवस्था पहली बार किसी ट्रेन में लागू होगी। हालांकि शुरुआती 40 प्रतिशत सीटों पर इसका किराया शताब्दी एक्सप्रेस के बराबर होगा। 

तेजस एक्सप्रेस सप्ताह में चार दिन प्रत्येक शुक्रवार, शनिवार, रविवार व सोमवार को दौड़ेगी। तेजस का किराया मल्टीप्लेक्स की तरह दो श्रेणी का होगा। लखनऊ जंक्शन से नई दिल्ली के लिए शुक्रवार व सोमवार का चेयरकार का किराया 870 और कानपुर से नई दिल्ली का किराया 780 रुपये होगा। इसी तरह शनिवार व रविवार को वीकेंड में लखनऊ जंक्शन से नई दिल्ली का चेयरकार का किराया 950 और कानपुर से नई दिल्ली का किराया 850 रुपये का होगा। एसी चेयरकार में 40 प्रतिशत (कुल 273) सीटों की बुकिंग तक बेसिक किराए में कोई वृद्धि नहीं होगी। इसके बाद बुकिंग करने पर 10 प्रतिशत की वृद्धि होगी। अधिकतम 30 प्रतिशत तक किराया बढ़ाया जा सकेगा। ट्रेन का एडवांस रिजर्वेशन पीरिएड फिलहाल 30 दिनों का होगा।

यात्री 30 दिन पहले तक अपना एडवांस टिकट बुक करा सकेंगे। थर्मल स्कैनिंग और लगेज सैनिटाइजेशन के बाद यात्री अपनी सीट पर पहुंचेंगे। भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आइआरसीटीसी) सभी यात्रियों को सेफ्टी किट भी देगा। जिसमें फेस शील्ड, मास्क, ग्लब्स, हैंड सैनिटाइजर होगा। सभी यात्रियों के लिए पूर्व की तरह ट्रेन होस्टेस, चाय काफी, भोजन व पानी जैसी सेवाएं उपलब्ध कराएंगी। ऑन बोर्ड मनोरंजन सेवाएं के साथ यात्रा के दौरान यात्री के घर चोरी व डकैती जैसी घटना होने पर एक लाख रुपये का कवर और 25 लाख रुपये का मुफ्त यात्रा बीमा आइआरसीटीसी प्रदान करेगा।  

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप