लखनऊ, राज्य ब्यूरो। Teachers In UP ऐसे सरकारी माध्यमिक स्कूल जहां विद्यार्थियों की संख्या के अनुसार शिक्षकों की नए सिरे से तैनाती की जाएगी। ऐसे स्कूल जहां विद्यार्थियों की संख्या तो कम है लेकिन शिक्षक अधिक हैं वहां से शिक्षक दूसरे अधिक छात्र संख्या वाले स्कूलों में भेजे जाएंगे।

सभी सरकारी स्‍कूल माध्यमिक शिक्षा निदेशालय भेजेंगे ब्‍योरा

  • शासन ने सभी स्कूलों से छात्र संख्या और शिक्षकों का ब्योरा मांगा गया है। 10 दिनों के अंदर सभी स्कूल अपने-अपने यहां तैनात शिक्षक और छात्रों की संख्या माध्यमिक शिक्षा निदेशालय भेजेंगे।
  • महानिदेशक, स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद की ओर से सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश दिए गए हैं कि वह प्रत्येक स्कूल का सही ब्योरा तय समय पर निदेशालय को भेजें।
  • स्कूलों को इसके लिए एक प्रोफार्मा जारी किया गया है, इसमें प्रत्येक विद्यालय में हर क्लास के कितने सेक्शन की मान्यता है।
  • हर सेक्शन में कितने-कितने छात्र हैं और उसके अनुसार कितने अध्यापक कार्यरत हैं। दरअसल बड़े शहरों में जोर-जुगाड़ से कम छात्र संख्या होने के बावजूद भी बड़ी संख्या में शिक्षकों को तैनात किया गया है।
  • वहीं कई अन्य जिलों में खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में छात्रों की संख्या ज्यादा है और शिक्षक कम हैं।

यूपी में एक समान अनुपात में तैनात किए जाएंगे टीचर

हाईस्कूल तक के विद्यालयों में 68 छात्रों पर एक सेक्शन होता है और 98 से अधिक छात्र होनें पर दूसरा सेक्शन होता है। एक सेक्शन पर डेढ़ शिक्षकों की तैनाती का मानक है। वहीं इंटरमीडिएट में 80 छात्र पर एक सेक्शन और 120 से अधिक छात्रों पर दूसरा सेक्शन बनाया जाता है। यहां एक सेक्शन पर दो टीचर तैनात किए जाते हैं। ऐसे में अब उपलब्ध शिक्षकों और विद्यालयों के अनुसार एक समान अनुपात में टीचर तैनात किए जाएंगे।

Edited By: Prabhapunj Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट