लखनऊ, जेएनएन। टैक्स चोरी कर एक ई-वेबिल के सहारे कानपुर से दोबारा पान मसाला की पैकिंग वाले सफेद बोरे (पीपी बैग)लेकर लखनऊ पहुंचे ट्रक को वाणिज्यकर के सचल दस्ते ने धर लिया। कर के दो लाख 73 हजार रुपये जमा कराए गए हैं। 

बीती 17 जून को रात करीब साढ़े 12 बजे ई-वेबिल जेनरेट कर कानपुर से ट्रक संख्या यूपी 78 एफएन-6691 पान मसाला के सफेद बोरे लेकर चली। एक बार माल उतारा उसके बाद फिर रवाना हो गई। दोबारा फिर उसी ई-वेबिल पर तय माल लाद कर दूसरे दिन ट्रक लखनऊ पहुंच गया। एडिशनल कमिश्नर अनंजय रॉय के निर्देश पर सचल दस्ते के असिस्टेंट कमिश्नर डॉ. मनोज शुक्ला ने जांच के दौरान ट्रक को रोका तो कागजात पूरे मिले। देर रात जारी हुए ई-वेबिल से कुछ घंटे बाद फिर से ट्रक के लखनऊ पहुंचने पर शक हुआ तो टीम के सदस्य टोल प्लाजा पहुंचे।

टोल के सीसीटीवी फुटेज खंगाला गया तो पता चला कि नवाबगंज के पास ट्रक ने दो बार राजधानी में प्रवेश किया है। टोल से जब प्रिंट आउट मिल गया तो चालक ने समर्पण कर दिया। उसके बाद सफेद बोरे भेजने वाली फर्म ने टैक्स और जुर्माने की तय धनराशि शनिवार को जमा कर दी है। 

छत्तीसगढ़ से लाई गई 23 टन सरिया गई पकड़ी 

एक अन्य मामले में छत्तीसगढ़ से 23 टन सरिया बांदा नरैनी के लिए बुक की गई। उसे बांदा में उतारा जाना था, लेकिन उसे राजधानी लखनऊ में पकड़ लिया गया। मामले की पड़ताल जारी है। असिस्टेंट कमिश्नर के मुताबिक कर चोरी का मामला है। चालक से की गई पूछताछ में उसने स्वीकार किया कि इसे नरैनी नहीं लखनऊ में उतारा जाना था। इसका भाड़ा भी लिया गया है। करीब दो लाख पचासी हजार रुपये की टैक्स चोरी का मसला है। उसे एक दो दिन में जमा करना पड़ेगा। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप