मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ, जेएनएन। अगर किसी ने फर्जी मुकदमा दर्ज कराया है तो जांच के बाद उसे खारिज कर दिया जाता है। साथ ही झूठा मुकदमा लिखाने वाले पर कार्रवाई भी की जा जाती है। जिन पर फर्जी मुकदमा दर्ज हुआ है, उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है। पुलिस किसी निर्दोष को जेल नहीं भेजेगी। यह बातें सीओ क्राइम/सीओ अलीगंज दीपक सिंह ने प्रश्न पहर कार्यक्रम में कहीं। उन्होंने पाठकों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब दिए। साथ ही आपराधिक घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए किए जा रहे प्रयासों की भी जानकारी दी। 

पाठकों के इन सवालों के दिए ये जवाब  
सवाल : किरायेदारों ने मकान पर कब्जा कर रखा है। जब खाली करने को कहते हैं तो तेजाब डालने समेत अन्य झूठे मुकदमे दर्ज करा देते हैं। (सरजू द्विवेदी, हुसैनगंज, लखनऊ)
जवाब : आप पर अगर फर्जी मुकदमा दर्ज हुआ है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। उसको खारिज करना पुलिस का काम है। रिकॉर्ड के अनुसार आपके दो मुकदमे पहले भी खारिज किए गए हैं और तीसरा मुकदमा भी खारिज कर फर्जी मुकदमा दर्ज कराने वाले पर कार्रवाई की जाएगी।

सवाल : कुछ पुलिसकर्मियों ने मेरी जमीन पर कब्जा करा दिया है। एसपी क्राइम समेत अन्य अधिकारियों ने मेरी ऊपर झूठी रिपोर्ट दी है। अधिकारियों से लेकर मंत्रियों तक से शिकायत की, लेकिन कार्रवाई नहीं हो रही है।(देवीदत्त पांडेय, पूर्व सैनिक, लखनऊ)
जवाब : हालांकि, जमीन संबंधी मामले में पुलिस को सीधे कार्रवाई के आदेश नहीं हैं। आप मेरे कार्यालय में आ जाएं, पूरी समस्या समझकर उसके निस्तारण का हर संभव प्रयास करूंगा।

सवाल : न्यायालय के पेशकार तक घूस ले रहे हैं। इसके चलते एक चौकीदार से संबंधित शिकायत का निस्तारण नहीं हो पा रहा, क्या करूं? (तीर्थराज शुक्ला-प्रतापगढ़ )
जवाब : आप डायल 100 या आइजीआरएस पर शिकायत कर सकते हैं। जो भी सही मामले होते हैं, उन्हें गंभीरता से लेकर शत-प्रतिशत कार्रवाई की जाती है। कहीं से सुनवाई न होने पर आप मुझसे भी मेरे सीयूजी नंबर 9454401494 पर अपनी बात बता सकते हैं। निश्चित रूप से कार्रवाई की जाएगी।

सवाल : मैं कानपुर विवि का छात्र हूं। परीक्षा केंद्र में मेरी कॉपी बदल दी गई। कहां शिकायत करूं। (गोलू शुक्ला, सीतापुर)
जवाब : आप कानपुर विवि की वेबसाइट पर शिकायत करें। आपकी समस्या का निस्तारण जरूर होगा। 

सवाल : मैं अकेले रहता हूं। कुछ लोगों ने मुझे घर में घुसकर पीटा और झूठे मुकदमे में जेल भिजवा दिया। अब भी परेशान कर रहे हैं। (शैलेंद्र बाजपेयी, काकोरी)
जवाब : आप मेरा सीयूजी नंबर ले लीजिये। काकोरी थाने चले जाइये। इंस्पेक्टर से मैं स्वयं कार्रवाई के लिए कहूंगा। पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराकर जो भी फर्जी मुकदमा दर्ज करा रहा है, उस पर कार्रवाई की जाएगी। 

सवाल : राजधानी की यातायात व्यवस्था में सुधार हो रहा है, लेकिन अभी और भी सुधार की जरूरत है, इसे कैसे करेंगे। (अलीगंज-अतुल, लखनऊ)
जवाब : एसएसपी साहब के निर्देशन में यातायात व्यवस्था में काफी हद तक सुधार हुआ है। अब ऑटोमेटिक सिस्टम से यातायात व्यवस्था के संचालन का काम शुरू होने ही वाला है। इससे जनता को पूरी तरह जाम से निजात मिल जाएगी। 

सवाल : अपराध में कमी क्यों नहीं आ रही है। इसे कैसे काबू करेंगे। (राहुल, मडिय़ांव, लखनऊ)
जवाब : हत्या, लूट, डकैती, चोरी समेत अन्य आपराधिक वारदातों में पिछले वर्ष की तुलना में इस साल कमी आई है। अपराधी पुलिस के रडार पर हैं। इसीलिए कोई भी वारदात होने के बाद उसका राजफाश भी हो रहा है। आपराधिक वारदातों में कमी लाने के लिए एसएसपी साहब के निर्देशन में पूरी पुलिस टीमें दिन-रात जुटी रहती हैं।

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप