लखनऊ, जेएनएन। Tablighi Jamaat : दिल्ली में निजामुद्दीन की तब्लीगी जमात में शामिल होने के बाद उत्तर प्रदेश के अलग-अलग शहरों में आए विदेशी नागरिकों को सलाखों के पीछे पहुंचाने की कार्रवाई जल्द और तेज होगी। बहराइच में क्वारंटाइन अवधि पूरी करने के बाद 11 अप्रैल, 2020 को 17 विदेशी नागरिकों को जेल भेजा जा चुका है। अब कई अन्य जिलों की पुलिस भी क्वारंटाइन की अवधि पूरी कर रहे विदेशी नागरिकों पर कानूनी शिकंजा कसने की तैयारी में है। विदेशी नागरिकों के मददगारों व निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात में शामिल ऐसे लोग, जिन्होंने छिपने का प्रयास किया, उनके विरुद्ध भी कार्रवाई तय है। जिन विदेशी नागरिकों के विरुद्ध एफआईआर है, पुलिस ने उन्हें 28 दिनों की क्वारंटाइन अवधि पूरी होने के बाद जेल भेजने की रणनीति बनाई है। हालांकि अधिकारी अभी इस पर खुलकर बोलने से कतरा रहे हैं।

यूपी पुलिस ने बीते दिनों दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात में शामिल होकर आए लोगों की तलाश शुरू की थी। इस दौरान एक फरवरी के बाद तब्लीगी जमात से सूबे में दाखिल हुए 325 विदेशी नागरिक भी सामने आए थे, जिन्हें क्वारंटाइन किया गया था। इनमें 259 के खिलाफ पुलिस ने लॉकडाउन के उल्लंघन, एपिडेमिक एक्ट, फॉरेन एक्ट व वीजा नियमों के उल्लंघन के मुकदमे दर्ज किए हैं। उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जिलों में अब तक विदेशी नागरिकों के विरुद्ध करीब 44 एफआईआर दर्ज हुई हैं। कुल विदेशी नागरिकों में 66 नेपाल के निवासी हैं। सबसे अधिक 179 विदेशी नागरिक मेरठ जोन में क्वारंटाइन हैं।

विदेशी नागरिकों के विरुद्ध मेरठ, गाजियाबाद, बुलंदशहर, बागपत, हापुड़, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, शाहजहांपुर, मुरादाबाद, बिजनौर, कानपुर, जौनपुर, भदोही, सीतापुर, सुलतानपुर, अलीगढ़, प्रयागराज, बहराइच व लखनऊ में एफआईआर दर्ज हैं। ऐसे विदेशियों के लिए फिर भारत आने की राह भी आसान नहीं होगी। बहराइच जिले से जिन विदेशी जमातियों को जेल भेजा गया है, उनमें 10 इंडोनेशिया के और सात थाईलैंड के नागरिक हैं।

अब तक पहचाने गए 2461 जमाती

दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में गए उत्तर प्रदेश के तब्लीगी जमात के करीब 2461 से अधिक लोगों की पहचान की जा चुकी है। इनमें करीब 2268 क्वारंटाइन किए गए हैं। दूसरे राज्यों में गए प्रदेश के ऐसे नागरिकों पर भी पुलिस की नजर है। डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी का कहना है कि निजामुद्दीन में हुई तब्लीगी जमात में शामिल लोगों व उनके संपर्क में आए लोगों की पहचान कराकर उन्हें क्वारंटाइन कराया जा रहा है। ऐसे जो लोग छिपने का प्रयास करेंगे, उन पर भी विधिक कार्रवाई होगी।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस