लखनऊ, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व विकेट कीपर सैय्यद किरमानी ने शिया पीजी कॉलेज में रविवार को नसीरुद्दीन हैदर स्टेडियम का उद्घाटन किया। इस अवसर पर किरमानी ने कहा कि इल्म और खेल ही हमें जीवन सिखाते हैं। समाज में एक सजग, तरक्की पसंद, विनम्र और मानवता को समझने वाले व्यक्ति का निर्माण केवल शिक्षा और खेल के माध्यम से ही किया जा सकता है। वर्तमान समय में शिक्षण संस्थान समाज के Óलाईट हाउसÓ हैं और इनकी उपयोगिता और गुणवत्ता बनाए रखने की हम सबकी जिम्मेदारी है।

आल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास ने कहा कि शिक्षा के साथ खेलों का आयोजन समाज में तालीम की सही उपयोग की प्रयोगशाला है। इसी से हमें नफरतों को मिटाकर उम्मीदों के दिये जलाने की प्रेरणा मिलती है। किसी भी तालीम का मुख्य मकसद प्रेम, भाईचारा और मानवता को बढ़ावा देने का होना चाहिए, जिसे शिया पीजी कॉलेज अपने स्थापना से अब तक बखूबी निभाता आ रहा है।

महाविद्यालय के प्रबंधक सै. अब्बास मुर्तजा शम्सी ने कहा कि तालीम पतंग की उस डोर की तरह होती है, जिससे जुड़कर पतंग आसमान की ऊंचाइयों को छूती है। तालीम ही वह जरिया है, जिससे जुड़कर समाज का हर व्यक्ति तरक्की की नई ऊंचाइयों को छू सकता है। इस अवसर पर प्रोफेसर अजीज हैदर, चौधरी शरीफुल हसन, सै एसएच तकवी,अता हुसैन रिजवी समेत तमाम लोग मौजूद रहे। 

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस