लखनऊ, जेएनएन। सहारनपुर और कुशीनगर में जहरीली शराब से हुई मौतों पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रदेश सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि जब गायों का कल्याण करने के लिए शराब पर टैक्स लगाएंगे तो इस तरह की घटना होगी ही। लोगों को लगता है कि शराब ज्यादा पियेंगे तो गायों की सेवा अच्छी होगी। 

सपा मुख्यालय में पत्रकारों से बात करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि लोगों को सरकार ने लालच दिया है कि गाय की सेवा अच्छी तभी होगी, जब आप शराब ज्यादा पियेंगे। लेकिन गरीबों को यह नहीं पता कि उन्हें कौन सी शराब पीनी है। उन्होंने मौतों के लिए भाजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि सरकार को सब पता है। यह भी पता है कि कि कौन ऐसी जहरीली शराब बना रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री ने बढ़ती आपराधिक वारदातों पर भी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इस सरकार में अपराध के सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं। जेलों से वसूली हो रही है। जेल के अंदर हत्या हो रही है। महिला अपराध कई गुना बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा अंग्रेजों वाला शासन कर रही है। सड़क पर आलू फेंकने वाले किसानों पर जो धाराएं लगाई गईं, बाद में पता चला कि अंग्रेजों के बाद किसी ने उन धाराओं का प्रयोग ही नहीं किया था। 

इस मिलावट में सब उड़ जाएंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बयान पर कि विपक्षी गठबंधन महामिलावट है, पर पलटवार करते हुए अखिलेश ने कहा कि यह ऐसी मिलावट है कि कौन कहां मिट जाएगा, किसी को नहीं पता। एक्सप्रेस-वे से जुड़े एक सवाल पर उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार उनकी नकल करके एक्सप्रेस-वे बना रही है लेकिन यह कब बनेगा, पता नहीं। इसी के साथ उन्होंने जोड़ा कि फिलहाल चुनाव काम पर नहीं होता। किसी और बात पर होता है। 

चुनाव बाद भी रहेगा गठबंधन

यह पूछे जाने पर कि क्या लोकसभा चुनाव बाद भी सपा से बसपा का गठबंधन रहेगा, उन्होंने कहा कि यह समाजवादियों की गांठ है। आगे भी जारी रहेगी। मायावती की संपत्तियों के मामले में सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी पर उन्होंने कहा कि कोर्ट ने यदि कुछ कहा है, तो वकील उसका जवाब देंगे। अखिलेश ने यह भी कहा कि मूर्तियां तो हमने भी लगवाई हैैं। लोकभवन में भी मूर्ति लगी है। हम सरकार में आएंगे तो उसके बगल में रामशरण दास जी की प्रतिमा लगवाएंगे। 

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस